Information Technology (IT) क्या हैं ? इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के बारें में विस्तार से जानिए ?

Information Technology (IT)
दोस्तों IT का फुल फॉर्म Information Technology यानी कि सूचना प्रौद्योगिकी होता है। जैसे कि नाम ही से पता चलता है कि यह एक प्रकार की टेक्नोलॉजी का विशाल क्षेत्र है जिसके अंतर्गत इलेक्ट्रिकल डिवाइस से लेकर हर उस डिवाइस का उपयोग किया जाता है जो कि सूचना के आदान-प्रदान करने में सहायक होता है।
यानी कि दोस्तों अगर IT को सरल शब्दों में समझें तो IT एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसके अंतर्गत हर इलेक्ट्रिकल डिवाइस जैसे कि मोबाइल, कंप्यूटर आदि का उपयोग करके सूचना का आदान-प्रदान एक स्थान से दूसरे स्थान के लिए किया जाता है इसी को Information Technology कहा जाता है।
दोस्तों आज 21 वीं सदी को सूचना प्रौद्योगिकी के युग के रूप में जाना जाता है यह न केवल एक राष्ट्र, बल्कि पूरे विश्व की आर्थिक वृद्धि का प्रमुख चालक है। आज देश के हर क्षेत्र की वृद्धि और प्रगति सूचना प्रौद्योगिकी के स्तर पर निर्भर करती है इसके अलावा, प्रौद्योगिकी केवल कार्य स्थल पर ही महत्वपूर्ण नहीं है।
बल्कि हमारे रोजमर्रा के जीवन में भी महत्वपूर्ण है। माइक्रोवेव जो कि खाना पकाने का उपकरण है या सुपर कंप्यूटर जोकि इस दौर के लिए महत्वपूर्ण है यानी कि किसी न किसी रूप में सूचना प्रौद्योगिकी हमारी आम जिंदगी से जरूर जुड़ी है।
सूचना प्रौद्योगिकी का विकास ही हमारा विकास है यह बात गलत नहीं है क्योंकि प्रौद्योगिकी ने हमें इस काबिल बना दिया है कि हम लगभग आधी से ज्यादा चीजों का ठीक से पता लगा सकते हैं।
और चंद सेकेंड में ही उन पर सोच विचार कर सकते है। जैसे कि आप मंगल मिशन को ही ले लीजिए हमारे देश भारत की स्पेस एजेंसी ISRO ने पृथ्वी से दूर मंगल ग्रह पर कई प्रकार की खोजें की है यह सब सूचना प्रौद्योगिकी ही मदद से संभव हुआ है।
जो काम हमें पहले असंभव लगता था उसी काम को संभव करने के पीछे सूचना प्रौद्योगिकी का ही हाथ है। हाइटेक इंडस्ट्री से लेकर एजुकेशन सिस्टम तक, हर जगह इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के पैरों के निशान देखे जा सकते हैं इसी तरह, सूचना प्रौद्योगिकी एक देश के समग्र विकास के लिए आवश्यक सुविधाओं में से एक है।

Contents

हिस्ट्री ऑफ़  Information Technology 

हार्वर्ड बिजनेस रिव्यू में 1958 के लेख में इनफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी को संदर्भित किया गया है जिसमें तीन मूल भाग शामिल हैं :- कम्प्यूटेशनल डेटा प्रोसेसिंग, डिसिजन सपोर्ट, और बिज़नेस सॉफ्टवेयर।
इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंप्यूटिंग तकनीक से संबंधित कुछ भी संदर्भित करती है, जैसे नेटवर्किंग, हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, इंटरनेट, या इन तकनीकों के साथ काम करने वाले लोग।
कई कंपनियों के पास अब अपने कारोबार के कंप्यूटर, नेटवर्क और अन्य तकनीकी क्षेत्रों के मैनेजमेंट के लिए आईटी विभाग हैं। आईटी नौकरियों में कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, नेटवर्क प्रशासन, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, वेब डेवलपमेंट, तकनीकी सहायता, और कई अन्य संबंधित व्यवसाय शामिल हैं।
चूंकि हम “इनफॉर्मेशन कि दुनिया” में रहते हैं, इसलिए इनफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा बन गई है। इसका मतलब है कि “IT” शब्द पहले से ही अत्यधिक उपयोग किया गया है।
आने वाले दशकों में, कई कॉर्पोरेशंस ने अपने व्यापार से संबंधित कंप्यूटर टेक्नोलॉजीज को मैनेज करने के लिए तथाकथित “आईटी विभाग” बनाया। जो कुछ भी इन विभागों ने काम किया वह इनफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी की वास्तविक परिभाषा बन गया, जो कि समय के साथ विकसित हुआ है। आज, आईटी विभागों में इन क्षेत्रों में जिम्मेदारियां हैं :-
  1. कंप्यूटर तकनीक का सपोर्ट
  2. बिज़नेस कंप्यूटर नेटवर्क और डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेशन
  3. बिज़नेस सॉफ्टवेयर डिप्लॉयमेंट
  4. इनफॉर्मेशन सेक्‍युरिटी
खासकर 1990 के डॉट कॉम बूम के दौरान, इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी भी आईटी विभागों के स्वामित्व वाले लोगों के बाहर कंप्यूटिंग के पहलुओं से जुड़ी हुई थी। आईटी की इस व्यापक परिभाषा में ऐसे क्षेत्र शामिल हैं:-
  1. सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट
  2. कंप्यूटर सिस्टम आर्किटेक्चर
  3. प्रोजेक्‍ट मैनेजमेंट

Information Technology का परिचय 

IT जिसका full Form Information Technology होता है। यह एक ऐसा क्षेत्र है। जहां Electronics Device और Computer का use करके अध्ययन किया जाता है।
इसे यदि हम सरल भाषा मे समझे तो जो आज हम अपने mobile Phone, या फिर Computer से Information को एक जगह से दूसरी जगह भेजने का काम करते है वह वह Information Technology के base पर ही किया जाता है।
जिसे हम Information Technology कहे सकते है। Information Technology का जन्म 20वी शताब्दी में प्रारंभ हुआ था। और इसकी वजह से World Community की ओर तेजी से आगे बढ़ रहा है।
21वी शताब्दी में में आज Information technology ने दुनिया को एक तरह से बदल कर रख दिया है।
मानव जीवन को आज IT ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया है। जिन कामों करने के लिए हमे घंटो लगते है वह आज हम कुछ ही सेकंड में कर सकते है।
हम कहे सकते है कि information Technology ने मनुष्य की लाइफ को Advance बना दिया है।
आज जो हम दुनिया भर की सूचना घर बैठे पढ़ सकते है, देख सकते है यह सब Information Technology के कारण ही संभव हुआ है।
आपकी बेहतर जानकारी के लिए बता दे कि IT कोई एक छोटा से क्षेत्र नही है। बल्कि यह काफी बड़ा क्षेत्र है।
जहां हम कहे सकते है की इसमे कई Department आते है। जैसे की Information Technology पर आधारित Software, Engineer, Hardware Engineer जैसी कई Job होती है।

Information Technology की हमारी जिंदगी में भूमिका

अब दोस्तों मेरे विचार से इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी कि हमारी जिंदगी में अहम भूमिका है। अहम भूमिका से मतलब यह है कि इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी हमारे आने वाले भविष्य को बना भी सकती है तथा बिगड़ भी सकती है।
इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी की विशेषताएं तथा इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के दोष अगर आपने ठीक से पढ़ा तो आप समझ ही गए होंगे कि किस तरह से इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को बना सकती है तथा किस तरह से इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को बिगाड़ सकती है।
जहां तक मुझे लगता है कि जिस तरह से हमें हर दिन नई नई टेक्नोलॉजी देखने को मिल रही है जो कि जीवन को आसान बना रही है तो हमें आने वाले भविष्य में कई सारी अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध हो सकती है।
लेकिन इसी के विपरीत अगर बात करें तो इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में जो भी साइबर क्राइम हो रहा है अगर वहां बढ़ जाए तो यह हमारे विकास को तो रुकेगा ही साथ में यह हमारे विनाश की शुरुआत होगी।

Information Technology (IT) क्या है ?

Information Technology (IT) एक ऐसा क्षेत्र है, जिसके अंतर्गत Computer या अन्य Physical Devices (Hardware, Software) का उपयोग Electronic Data को Create, Process, Socure और Exchange करने के लिए किया जाता है।
सरल परिभाषा में समझे तो सूचना प्रौद्योगिकी (IT) के अंतर्गत हम Computer और Telecommunication जैसे System का अध्ययन व उपयोग सूचना के भंडारण, पुनर्प्राप्ति और आदान प्रदान के लिये करते है।
Computing Technology से सम्बंधित सभी चीजें Information Technology को संदर्भित करती है। इसका अर्थ है, कंप्यूटर के द्वारा किये जाने वाले कार्य व इससे जुड़ी हुई चीजें जैसे Internet, Networking, Data Management
इत्यादि सभी IT का एक हिस्सा है। एक IT System को आमतौर पर सूचना प्रणाली (Information System) संचार प्रणाली (Communication System) या कंप्यूटर प्रणाली (Computer System) जैसे नामो से भी जाना जाता है।
“IT” कोई छोटा क्षेत्र नही है, बल्कि इसमे कई चीजें आती है। अगर IT Department को एक उदाहरण के तौर पर देखे तो इसमे कई ऐसे विभाग आते है, जिन्हें शायद आप एक अलग चीज समझते हो।
Information Technology के अंतर्गत कई jobs और जिम्मेदारियों के साथ कई लोग काम करते है। इन जिम्मेदारियों की बात करे तो इनमे System और Data Security से लेकर Network को बनाए रखने और चलाने तक के कार्य है।
 इसके साथ ही Programming, Data Input करना और Database Management जैसे कई कार्य IT के अंतर्गत आते है।

IT Company क्या होती है ?

IT Company या आईटी सेक्टर के अंदर कंप्यूटर पर आधारित संचार तंत्र जैसे सॉफ्टवेयर ऍप्लिकेशन या कंप्यूटर हार्डवेयर से कार्य करना, अध्ययन करना, प्रबंधन करना, सुरक्षा करना, विकास करने से संबंधित सभी प्रकार कार्य शामिल होते है ।
आईटी कंपनियां कंप्यूटर टेक्नोलॉजी या इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से संबंधित होती है, इनमें ज्यादातर आईटी सर्विस देती है या आईटी प्रोडक्ट बनाती है । लोग इसे सॉफ्टवेयर कंपनी के नाम से भी जानते है ।
कई आईटी कंपनी खुद कंप्यूटर या नेटवर्क से संबंधित उपकरण या प्रोडक्ट बनाती है । कई कंपनियां टेक्नोलॉजी, नेटवर्क या कंप्यूटर से संबंधित सुविधाएं देती है । यह सभी इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के अंदर ही आते है ।
इसी प्रकार कंप्यूटर या टेक्नोलॉजी से संबंधित क्षेत्र में जो भी काम कर रहे है, उदाहरण के लिए कोई व्यक्ति प्रोग्रामर या डेवलपर है, कोई डिज़ाइन में काम कर रहे है, ये सब भी इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के ही भाग होते है ।

आईटी विशेषज्ञ क्या करते है ? 

आईटी सेक्टर में बड़े कंप्यूटर सिस्टम तैयार करने, डेटा सुरक्षित रखने से लेकर नेटवर्क के संचालन तक बहुत से कार्य होते है।
IT Experts वे लोग होते है जो किसी आईटी कंपनी, संस्था या बिजनेस में काम करते है। ये लोग कंप्यूटर, नेटवर्क और आईटी सिस्टम को संभालते है, उनमे सहायता प्रदान करते है और कोई समस्या आने पर उसका निवारण करते है ।
आईटी में डेटा संग्रह और रखरखाव वाले भी लोग होते है। लोग सॉफ्टवेयर और सिस्टम बनाते है, जिसमे Design और Programming करने वाले भी होते है।
कई आईटी स्टाफ लगातार सिस्टम को संभालते भी है और कोई समस्या आने पर उसका निवारण करते है ताकि सिस्टम और नेटवर्क अच्छी तरह से चल सके।
इसमें आईटी डिपार्टमेंट का संचालन करने और नए उपकरणों को खरीदने का निर्णय लेने वाले लोग भी होते है। इस तरह कई सारे कार्य क्षेत्र इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में मौजूद होते है।
आईटी विशेषज्ञों के लिए इस फील्ड में कई प्रकार की भूमिकाएं (Roles) होते है जैसे :-
  1. Data Scientist
  2. Network Administrator
  3. System Administrator
  4. System Analyst
  5. Technology Specialist
  6. Data scientist
  7. Database administrator
  8. IT Manager
  9. Support Analyst
  10. Database developer
  11. Software Tester
  12. Software engineer
  13. Software Architect
  14. Software Development Manager
  15. Network engineer
  16. Software / Application developer
  17. Technical consultant

सूचना प्रौद्योगिकी किसे कहते है ?

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी को हिंदी में सूचना प्रौद्योगिकी भी कहा जाता है। सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग व्यापार, वाणिज्य, संचार जैसे कई क्षेत्रों में किया जा रहा है।
पहले के समय Information Technology की जानकारी बहुत कम लोगो को थी, क्योकि उस समय इसका विस्तार ज्यादा नही हुआ था।
अधिकतर जगहों पर जानकारी या सूचनाओं का संग्रह, आदान प्रदान आदि बिना कंप्यूटर के माध्यम से ही होते थे। आईटी के बारे में वही लोग जानते थे जो किसी बढ़ी संस्थाओ में काम करते थे।
जहाँ बड़ी मात्रा में डेटा को स्टोर (संग्रह ) करना होता था और इसके लिए कंप्यूटर का उपयोग किया जाता था।
लेकिन पिछले कुछ समय में इनफार्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी काफी फैल गयी है, आज के समय कंप्यूटर और इंटरनेट की मदद से हर जगह पर काम किया जाता है। पहले से धीरे धीरे समय बदलता जा रहा है।
इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी पर आधारित नई खोजे, आविष्कार हो रहे है, जिसके साथ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी लगातार आगे बढ़ रही है।

सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000

सूचना प्रौद्योगिकी की बढ़ती मांग और अनुप्रयोगों को समझते हुए, भारत सरकार ने 2000 में सूचना प्रौद्योगिकी का बिल पारित किया।
जिसे सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 के रूप में जाना जाता है. तो आइए जानते हैं कि इस अधिनियम में आपको क्या बताया जाता है जो कि सूचना प्रौद्योगिकी को सुरक्षित करता है।
तथा सूचना प्रौद्योगिकी की हर एक चीज पर नजर रखता है तो आइए जानते हैं इस अधिनियम की क्या विशेषताएं थी-

सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 की प्रमुख विशेषताएं

  1. यह उपयोगकर्ताओं को समान कानूनी उपचार प्रदान करके E-governance और E-commerce की सुविधा प्रदान करता है।
  2. इसने इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड और डिजिटल हस्ताक्षर स्वीकार करने का प्रावधान किया गया है।
  3. इसने इलेक्ट्रॉनिक व्यापार लेनदेन को कानूनी स्वीकृति दी गई है।
  4. अधिनियम बैंकों को निर्देश देता है कि वे इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड बनाए रखें और इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा प्रदान करें।
  5. यह साइबर Law- Appellate Tribunal भी स्थापित करता है।

 

IT Courses क्या होता है ? 

आईटी में कैरियर बनाने के लिए बहुत से Undergraduate, Postgraduate आईटी कोर्स किए जा सकते है। आईटी के क्षेत्र में शुरुआत करने के लिए बहुत से सर्टिफिकेशन प्रोग्राम, डिप्लोमा कोर्स भी उपलब्ध होते है।
लेकिन इसके साथ आईटी में करियर बनाने के लिए अच्छी टेक्निकल स्किल्स का होना भी बहुत जरूरी होता है। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे Java, C, C++ आदि में विशेषज्ञता आईटी में करियर बनाने में बहुत काम आती है ।
सबसे ज्यादा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी या कंप्यूटर साइंस में B.E. या B-Tech, BCA ,BSC आदि अंडरग्रेजुएट आईटी कोर्स लोकप्रिय है। ज्यादातर लोग आईटी, कंप्यूटर साइंस,इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन में इंजिनीरिंग डिग्री (B.E) करते आ रहे है।
इसके अलावा आईटी में प्रोग्राम जैसे BCA और Bechelor of Science IT or Computer Engineering (BSC) भी बहुत से लोग चुनते है। ग्रेजुएशन के बाद आप आगे इस फील्ड में पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स ME , M-Tech, MCA, MSC या PhD प्रोग्राम भी कर सकते है।

BE or B-Tech Course in IT or Computer Science

IT या कंप्यूटर साइंस में BE या B-Tech कोर्स एक ग्रेजुएशन प्रोग्राम होता है। यह कोर्स 4 साल का होता है, जिसमे टेक्निकल विषयों की पढ़ाई होती है। इस कोर्स में एडमिशन के लिए 12th PCM ( फिजिक्स -केमिस्ट्री- मैथ्स) विषय से होना जरूरी होता है।

BSC IT or Computer Science Course

बैचलर ऑफ साइंस आईटी और कंप्यूटर साइंस ( BSC IT ) एक ग्रेजुएशन प्रोग्राम है, जिसमे इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के विषय होते है। यह कोर्स 3 साल में पूरा होता है, इसमें भी PCM के साथ 12वी पास होना जरूरी होता है।

BCA ( Bachelor of Computer Application )

कंप्यूटर या आईटी में जाने के लिए बीसीए कोर्स बहुत से लोग करते है। बीसीए का पूरा नाम बेचलर ऑफ कंप्यूटर ऍप्लिकेशन है,  यह कोर्स 3 साल में पूरा होता है। BCA कोर्स करने के बाद MCA कोर्स कर सकते है।

Diploma in IT or Computer Science

आईटी में बहुत से डिप्लोमा कोर्स भी किए जाते है। डिप्लोमा कोर्स को पूरा होने में 3 से 4 साल लगते है ,यह अलग अलग कोर्स पर निर्भर करता है। डिप्लोमा कोर्स में Diploma in Computer Science और Diploma in Information Technology बहुत लोकप्रिय है।
इनके अलावा भी आईटी में बहुत से डिप्लोमा कोर्स है, जो कॉलेजों में उपलब्ध है। डिप्लोमा में 10th पास विद्यार्थी एडमिशन ले सकते है और डिप्लोमा पूरा होने के बाद BE या B-Tech में एडमिशन कर सकते है।

Short Term IT Course and Certification Courses

आमतौर पर आईटी के क्षेत्र में प्रवेश या नौकरी करने के लिए आईटी के Short Terms Course किए जाते है । आईटी में अपनी स्किल्स बनाने के लिए भी शॉर्ट टर्म या सर्टिफिकेशन कोर्स किए जाते है ।
यह सर्टिफिकेशन कोर्स 6 महीने, 1 साल या 2 साल के भी होते है । इसकी अवधि कोर्स के प्रकार पर यह निर्भर है । इसके अंतर्गत कोर्स पूरा करने पर आईटी सर्टिफिकेट दिया जाता है ।
यह Short Term आईटी कोर्स लोगों द्वारा कई आईटी विषय जैसे Cloud Computing, सर्वर, हार्डवेयर और नेटवर्किंग, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, सायबर सेक्युरिटी, एथिकल हैकिंग, ग्राफिक्स डिजाइन आदि में किए जाते है।

 

IT में करियर कैसे बनाएं

दोस्तों जैसे कि इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी में हमें हर दिन कुछ ना कुछ नया देखने को जरूर मिल रहा है।तो इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में आने वाले समय में बहुत अधिक करियर विकल्प उपलब्ध होने वाले हैं।
तो अब हम जानेंगे की इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में जाने के लिए आपको क्या करना होगा। दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दे इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में भी कई तरह के फील्ड है आप किसी भी एक फील्ड को चुन सकते हैं और उस से रिलेटेड कोर्स कर सकते हैं।
दोस्तों इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में जाने के लिए कई कोर्स उपलब्ध है जिनमें की कुछ कोर्स डिग्री कोर्स तथा कुछ कोर्स डिप्लोमा कोर्स तथा कुछ कोर्स सर्टिफिकेट कोर्स है आइए हम इन सभी पर चर्चा करते हैं-

Degree Courses in Information Technology

दोस्तों अगर आप इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में डिग्री कोर्स करना चाहते हैं तो नीचे आपको सबसे बढ़िया डिग्री कोर्स की सूची दी गई है जो कि 3 या 4 साल के है. जिन्हें कि आप कर सकते हैं और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में अपना करियर बना सकते हैं :-
  1. B.Tech
  2. Bachelor of Computing
  3. Bachelor of Computer Engineering
  4. Master of Science in Information Technology
  5. Doctor of IT
  6. BE Information Technology
  7. Diploma Courses in Information Technology
दोस्तों अगर आप इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में Diploma Course करना चाहते हैं तो नीचे आपको सबसे बढ़िया Diploma Courses की सूची दी गई है जो कि 3 या 4 साल के है जिन्हें कि आप कर सकते हैं और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में अपना करियर बना सकते हैं :-
  1. Diploma Information in Technology
  2. Diploma in Automobile Engineering
  3. Diploma in Electrical Engineering
  4. Diploma in Computer Science Polytechnic
  5. Diploma in Automobile Engineering
  6. Diploma in Mechanical Engineering
  7. Certificate Courses in Information Technology
दोस्तों अगर आप इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में Certificate Courses करना चाहते हैं तो नीचे आपको सबसे बढ़िया Certificate Courses की सूची दी गई है जो कि 1 या 2 साल के है जिन्हें कि आप कर सकते हैं और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में अपना करियर बना सकते हैं :-
  1. IT management
  2. Project management
  3. Network administration
  4. Network engineering
  5. System administration
  6. Security engineering
  7. Software development

 

इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) का उपयोग

IT अथवा सूचना प्रौद्योगिकी एक बड़ा क्षेत्र है, आज की लगभग सभी modern technology इसी पर आधारित है।अगर इसके उपयोग की बात करे तो Information Technology ने मनुष्यों के हर aspect को प्रभावित किया है। हमारी Education, Society, Business, Entertainment, Telecommunications इत्यादि सभी महत्वपूर्ण चीजे इसका फायदा ले रही है।
नीचे सूचना प्रौद्योगिकी (IT) के कुछ उपयोगों को सूचीबद्ध दर्शाया गया है :-

Business

व्यावसायिक कार्यो पर IT का महत्वपूर्ण प्रभाव है. Technology infrastructure व्यवसाय की संस्कृति, दक्षता और सम्बन्धों को प्रभावित करता है. पहले के मुकाबले आज के business कही अधिक technology पर निर्भर है। एक बेहतर दूरसंचार से लेकर online payment जैसे महत्वपूर्ण विकल्प के लिए हमे सूचना प्रौद्योगिकी IT को अपनाना पड़ता है। अगर अपने व्यापार को बड़ाना है, तो online advertisement के माध्यम से हम अपने customers तक पहुंच सकते है।

Education

Information Technology के विकास ने पुरानी Education system को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है। अब शिक्षा क्षेत्र बदल गया है. आज हम internet का उपयोग करके online education घर बैठे ले सकते है. आज के समय कई ऐसे online application है, जिस पर लगभग हर विषय के बारे में जानकरी बेहतर ढंग से दी जा रही है।

Telecommunications

सूचना प्रौद्योगिकी के आने से दूरसंचार (telecommunications) के क्षेत्र में कई नई सेवाओं के द्वार खुले है।computer खुद email के द्वारा संचार करने के लिए telephone network का उपयोग करता है। इसके साथ ही IT के विकास से Radio, TV transmission, World Wide Web(WWW) जैसे महत्वपूर्ण अविष्कार संभव हुए। एक phone के अंदर telephone और internet service को Information technology के माध्यम से ही साथ लाया गया।

Entertainment

कंप्यूटर मोबाइल जैसी तकनीकों के अविष्कार ने हमारे जीवन मे मनोरंजन के ढेरों साधन दिए है।आज हम movies और music को internet के माध्यम से online access कर सकते है। इसके अलावा कई ऐसे entertainment tool है, जो हमे IT के विकास से प्राप्त हुए है।

Security

प्रौद्योगिकी में विकास के साथ-साथ Online froud, Data theft जैसी कई समस्याएं सामने आयी। जिसके बाद Information technology security को बनाया गया। इसके अंतर्गत computer, network और data जैसी महत्वपूर्ण जानकरी को दूसरों की पहुंच से दूर रखा जाता है। जब आप online portal के द्वारा अपने बैंक खाते तक पहुँचते है, तो IT Security यह सुनिश्चित करती है, कि केवल आप ही अपने खाते की जानकारी देख पाये।

Information Technology के विभिन्न घटक

आज का युग technology का है, हमारे जीवन को सरल बनाने के लिए टेक्नोलॉजी ने सभी क्षेत्रों में योगदान दिया है। Information system का भी इसमे अहम रोल है, जो data और information को इकट्ठा करने और व्यवस्थित करने से सम्बंधित है। इस Information system (सूचना प्रणाली) के प्रमुख पांच घटक होते है।

Computer hardware technology

इस प्रौद्योगिकी को भौतिक तकनीक (physical technology) कहा जाता है, जो information के साथ काम करती है। हार्डवेयर कंप्यूटर के वे भाग है जिन्हें हम देख व छू सकते है। उदाहरण के लिये CPU, Motherboard, Keyword, Mouse इत्यादि कंप्यूटर हार्डवेयर कहलाते है। इसके अलावा Micro computer, Mainframe और Storage device भी इसके अंतर्गत आते है।

Computer software technology

सॉफ्टवेयर निर्देशो का एक सेट है, जो हार्डवेयर को यह बताता है, कि क्या करना है. सरल भाषा मे आप इसे एक program भी कह सकते है। उदाहरण के लिये programmers जो software बनाते है, असल मे वह commands या instructions लिखते है. जिसके अनुसार हार्डवेयर कार्य करते है। इसके दो मुख्य भाग होते है, पहला operation system जिसमे hardware को प्रयोग करने योग्य बनाया जाता है। दूसरा Application software जो कुछ specific task के लिये डिजाइन किए जाते है।

Telecommunications व network technology

इस प्रक्रिया में सभी हार्डवेयर को एक साथ जोड़कर network बनाया जाता है। इसके लिये wire का उपयोग हो सकता है। जैसे ethernet cable या fibre optics और या फिर wireless जैसे Wifi के माध्यम से भी connection स्थापित किया जा सकता है। अगर किसी विशिष्ट क्षेत्र जैसे कार्यालय, स्कूल के सभी computers को आपस मे जोड़ना है, तो इसके लिए एक Local area network (LAN) डिज़ाइन किया जाता है. यदि connection दूर-दूर बनाना हो तो इसके लिये Wide area network (WAN) डिज़ाइन किया जाता है। इंटरनेट स्वयं नेटवर्क का नेटवर्क है।

Database Technology

इस घटक के अंतर्गत बाकी अन्य घटक निवास करते है। Database एक ऐसा स्थान है, जहां डेटा एकत्र (data collect) किया जाता है। यह डेटा कई प्रकार का हो सकता है. जैसे document, file, worksheet इत्यादि।

Human Resources

Information Technology (IT) का सबसे महत्वपूर्ण घटक मानव संसाधन (human resources) है। सिस्टम को चलाने के लिए जिन लोगो की आवश्यकता होती है, फिर चाहे वह workers हो या System Analytics, Programmer, Chief Information Officer इन सभी का सूचना प्रौद्योगिकी में एक बड़ा योगदान है। यह सभी IT के लिए आवश्यक तत्व है।

सूचना प्रौद्योगिकी के फायदे

दोस्तों वैसे अगर हम सूचना प्रौद्योगिकी की विशेषताओं की बात करें तो इसकी कोई सीमित सीमा नहीं है यह हमारे लिए उपयोगी भी सिद्ध हुई है तथा हमारे लिए कई बार खतरनाक भी साबित हुई है तो चलिए हम आपको कुछ विशेषताओं के बारे में बताते हैं। निम्नलिखित प्रमुख विशेषताएं हैं और साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी के लाभ भी हैं –
  1. सूचना प्रौद्योगिकी के विकास ने शिक्षा प्रणाली को सरल, आसान और व्यापक बनाया है. अब, दूरस्थ क्षेत्रों के लोग भी अपने बच्चों की शिक्षा के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग कर सकते हैं और वयस्क शिक्षा का लाभ भी उठा सकते हैं।
  2. बड़े पैमाने पर E-governance का प्रसार।
  3. शासन और नीति निर्माण में जनता की भागीदारी।
  4. तेजी से आर्थिक विकास।
  5. सुदूर क्षेत्रों का विकास।
  6. प्रौद्योगिकी, अपराधियों को पकड़ने में पुलिस की मदद करती है।
  7. न्यायपालिका और अन्य प्रशासनिक सेवाएं भी काम को आसान और तेज़ बनाने के लिए तकनीक की मदद ले सकती हैं।
  8. IT आम लोगों के लिए अत्यधिक फायदेमंद है, क्योंकि वे अपने अधिकारों का उपयोग कर सकते हैं और उस व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं जो उसके अधिकारों का उल्लंघन करता है।
  9. यह न केवल एक व्यक्ति, बल्कि समग्र रूप से समाज की खुशी और समृद्धि को बढ़ाता है।
  10. इसके अलावा, कई अन्य लाभ भी हैं जिनका लाभ केवल सूचना प्रौद्योगिकी के विकास के साथ ही हमारे रोजमर्रा के जीवन में उठाया जा सकता है।

 

सूचना प्रौद्योगिकी के नुकसान

दोस्तों सूचना प्रौद्योगिकी समाज के लिए एक वरदान की तरह है लेकिन यह समाज को हानि पहुंचाने में भी पीछे नहीं है. हालांकि हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का ज्यादातर उपयोग जीवन को आसान बनाने के लिए किया जाता है तो चलिए अब हम थोड़ा सूचना प्रौद्योगिकी से हानियां जान लेते है :-
  1. दोस्तों ऐसी संभावनाएं हैं कि बच्चे प्रौद्योगिकी का दुरुपयोग कर सकते हैं और गलत रास्ता अपना सकते हैं।
  2. दोस्तों जैसा कि ऊपर चर्चा की गई है, तकनीक की मदद से पुलिस अपराधियों और आपराधिक गतिविधियों को गिरफ्तार कर सकती है।
  3. इसी समय, प्रौद्योगिकी ने अपराधियों के लिए भी स्मार्ट आपराधिक गतिविधि का अभ्यास करने के लिए दरवाजा खोल दिया है।
  4. कुछ लोगों का Deformed दिमाग किसी को अनैतिक और गैरकानूनी रूप से बदनाम करने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हैं ये मूल रूप से अवगुण नहीं हैं, बल्कि प्रौद्योगिकी का दुरुपयोग हैं।

Conclusion

इस आर्टिकल IT क्या है Information Technology की पूरी जानकारी में आपने जाना इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का क्या मतलब होता है और यह महत्वपूर्ण क्यों है? इस आर्टिकल का अगर निष्कर्ष निकाले तो आईटी कोई एक विषय नही है, बल्कि यह एक बहुत बड़ा उद्योग है।
हमे उम्मीद है, इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद सूचना प्रौद्योगिकी (IT) से सम्बंधित सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।
अगर फिर भी आपने मन मे कोई सवाल या सुझाव हो तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये। आपके पूछे सवालों का जवाब हम जल्द देने की कोशिश करेंगे।
अंत मे अगर यह आर्टिकल आपको ज्ञानवर्धक लगी हो और आपका कोई सहपाठी इस विषय मे जानना चाहता है, तो आप इस आर्टिकल को उस तक शेयर कर सकते है… धन्यवाद ।।

1 thought on “Information Technology (IT) क्या हैं ? इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के बारें में विस्तार से जानिए ?”

Leave a Comment