SEO क्या है? जानिए Search Engine Optimization हिंदी में

अगर आप ब्लॉगिंग, वेबसाइट, यूट्यूब या साधारण ऑनलाइन से जुड़े हुए है तो अपने SEO के बारे में सुना जरूर होगा, कई लोग इसके बारे जानकारी रखते है और कई लोग अभी भी इसे समझने की कोशिश कर रहे हैं।

हम आपके लिए SEO से जुड़े सभी जानकारी आज के इस आर्टिकल में शामिल किया है, जो इतने आसानी से समझाया गया है की आपको कोई भी बात को समझने के लिए ज्यादा दिमाग पर जोर नहीं देना पड़ेगा।

Search Engine Optimization in Hindi
Search Engine Optimization in Hindi

अगर SEO को सही तरीके से समझना है तो आपको बिलकुल बेसिक से जानना होगा, शुरू करने से पहले दिमाग बिलकुल शांत कर लें और एक एक चीजों का आनंद ले। सिर्फ पड़े नहीं समझ लीजिये।

SEO क्या है ?

SEO इसका फुलफॉर्म है Search Engine Optimization. जो भी हम ऑनलाइन ढूंढ़ते है या Search करते है, वह किसी न किसी Search Engine के माध्यम से करते है, जैसे Google, Bing, Aol और भी बहुत सारे है।

अब इन Search Engine में जो भी सर्च करते है उसके बारे में सभी जानकारी आपको सामने देखने को मिलता है। साथ ही निचे आपको और भी काफी सारे पेज देखने को मिलता है जिसके अंदर आपके द्वारा सर्च किया हुआ रिजल्ट रहता है।

पर हम सिर्फ पहले पेज पर मौजूद रिजल्ट को ही देखते है, बहुत मुश्किल से ही कोई दूसरे या तीसरे पेज को देखते है।

अब गौर करने वाली बात यहाँ पर है, पहले पेज पर जो भी रिजल्ट आते है वह किसी न किसी वेबसाइट, ब्लॉग आदि के होते है। और बाकि के जो पेज है उसमे भी सर्च के रिजल्ट रहते है। तो पहले पेज में बाकि के पेजों में मौजूद वेबसाइट, ब्लॉग के रिजल्ट से ऐसा क्या होता है जो उन्हें पहले पेज दिखता है ?

असल में यही SEO या Search Engine Optimization होता है, जिसके कारण उन वेबसाइट, ब्लॉग के रिजल्ट पहले पेज पर दिखाता है।

अब आप बोलेंगे, हाँ ठीक है – ठीक है, ये तो समझ लिया लेकिन आखिर SEO है क्या ये तो बताओ 😐, तो चलिए

अभी हमने आपको बताया की SEO होता क्या है, अब आपको बताते है SEO है क्या?

Search Engine Optimization
Search Engine Optimization

असल में SEO कोई एक चीज़ नहीं है, या कोई बस्तु, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, कोई कोडिंग इत्यादि ऐसा कुछ भी नहीं है यह बस एक नाम है Search Engine Optimization.

जब भी कोई अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर कोई कॉन्टेंट डालता है तो उस कॉन्टेंट को इस तरह जमा के रखता है और जरुरत की सभी चीजों को सही से रखता है तो कोई भी Search Engine आसानी से उस कोनेन्ट Optimize कर लेता है और जब भी कोई उस कॉन्टेंट से जुड़े कुछ भी सर्च करता है तो Search Engine इसी कॉन्टेंट को पहले दिखता है।

SEO में सिर्फ कंटेंट का ही काम नहीं है साथ ही उस ब्लॉग या साईट का नाम, स्पीड, फोटो, लिंकिंग और भी कई चीजें है जो मिलकर ही इस काम को सही से करते है।

इसे ही SEO या Search Engine Optimization करना कहते है। आशा करते है अब आपको इतना तो पता चल गया की आखिर SEO है क्या।

अब हम आपको बताएँगे की ऐसा क्या किया जाये और किन किन चीजों पर ध्यान रखने पर आप भी अपने वेबसाइट, ब्लॉग पर SEO कर सकते है और आसानी से कोई भी Search Engine पर Rank कर सकते है।

SEO के लिए जरुरी बातें

हम लोग ज्यादातर SEO के बारे में एक गलत धरना बना लेते है की यह बहुत मुश्किल चीज़ है और इसी बजह से साधारण सी चीज को भी कई लोग कोर्स बना कर बेचते है और हम लोग अपने पसे बर्बाद करते है।

पहले तो हम यह बता दे अगर कोई व्यक्ति SEO के बारे में बिलकुल नहीं जनता हो और बस अपना काम सही तरीके से करें तो १००% उसकी वेबसाइट या ब्लॉग किसी भी Search Engine पर पहले नंबर पर आ सकता है।

यह व्यक्ति अनजाने में ही SEO कर लेते है। असल SEO होता है अपने काम को सही तरीके से रखना न की बस रख देना। एक मिठाई दुकान में तभी भीड़ होता है जब उसकी मिठाई स्वादिस्ट, देखने में अच्छा, दाम सही और दुकान का लुक बढ़िया हो।

ठीक यह सबकुछ ऑनलाइन में भी लागु होता है। आपको भी उस मिठाई की दुकान की तरह अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर ध्यान देना होता है बस हो गया।

आप कितना भी कोर्स कर लो या पेड-टूल खरीद लो तब भी कोई फायदा नहीं होगा जब तक की आप अपना काम सही से नहीं करोगे। पेड-टूल या कुछ ऐसे टूल जो सही मायने में कामगार है पर बेसिक चीजों को लागु करने बाद ही इस तरह के टूल सही काम आता है।

यह भी देखिये :   SEO क्या है? कैसे अपने वेबसाइट को रैंक करें? SEO Guide & Tips in Hindi

हमारे दूसरे आर्टिकल में आपको पेड-टूल या फ्री टूल के बारे में बताएँगे और उनका उपयोग, और भी बहुत कुछ बिस्तार से जानकारी देंगे।

चिंता करने वाली कोई बात नहीं अब हम आप लोगों को यह बताएँगे की आखिर किन चीजों पर ध्यान रखना है और कैसे काम करना है, इससे आपको अलग से कुछ किया बगैर Top Ranking मिल जायेगा वो सिर्फ Google में ही नहीं सभी Search Engine में।

वैसे आप लोगो ने बहुत जगह में सुना होगा On Page SEO और Off Page SEO, हाँ ऐसा होता है पर हम यहाँ आपको यह सब नहीं बताएँगे। हम आपको डाइरेक्ट SEO करना बताएँगे जिससे आप इनका उपयोग करके अपने साईट को रैंक करवा सकते है।

प्लेटफार्म (Platform)

कोई भी ब्लॉग के लिए उसका प्लेटफार्म एक बेहद जरुरी चीज है। इस विषय पर सबकी अलग अलग धारणाएं और मत है और हम यह बिल्कुल नहीं कहते की वह सब गलत है। सब अपनी अपनी जगह पर सही गलत है।

हम बस यहाँ इतना कहते है की अगर आपके पास ज्यादा पैसे नहीं है और आप बिलकुल नए है और पहले आजमाना चाहते है की आप इस काम को कर सकते है की नहीं तो हमारी सलाह है की आप फ्री वाले प्लेटफार्म जैसे Blogger, WordPress.com का उपयोग कर सकते है।

बाकि आप पैसा खर्च करना चाहते है और जानते भी इसके बारे में तो आपको बिलकुल Paid वाले प्लेटफार्म का उपयोग करना चाहिए।

चूँकि हम लोग यहाँ SEO के बारे बता रहे है तो प्लेटफार्म को लेकर ज्यादा बात नहीं करेंगे। इसके बारे में हम आपको एक अलग से आर्टिकल में बिस्तृत से बताएँगे। तो चलिए आगे बढ़ते है…

1. विषय (Niche)

यहाँ ज्यादातर लोग सबसे बड़ी गलती करते है अपने ब्लॉग या वेबसाइट के विषय या Niche को ढूंढ़ने में। कोई भी फेमस टॉपिक को Niche मान लेते है जैसे Tech, Health, Online Income, News, Jobs आदि और उस पर जबरदस्ती काम करना शुरू कर देते है। चलिए हम मदद करते है, सही Niche ढूंढ़ने में।

एक सही Niche बहुत ही छोटा होता है, यहाँ छोटे से मतलब जैसे Tech > Computer > Hardware > Graphics Card तो यहाँ आप देख सकते है की Tech मेन सब्जेक्ट है अगर आप टेक को Niche मानते है तो ऐसे नहीं है।

क्योंकि Tech काफी चीजों को मिलाकर बनता है, लेकिन अगर इसी में Graphics Card को देखेंगे तो यह सिर्फ एक ही विषय को दिखाता है यही सबसे सही Niche होता है।

आपको भी अपने रूचि के हिसाब से सही विषय लेना होता है जिससे आपका ध्यान सिर्फ एक ही विषय पर केंद्रित रहता है, इससे आप जो भी कॉन्टेंट देते है वह उसी विषय पर होता है। ऐसा करने पर Search Engine को आपके ब्लॉग या वेबसाइट का मूल रूप पता चलता है।

इसके 2 फायदें होते है 1. Search Engine में आपका साईट अच्छे से Optimize होता है। 2. AdSense या अन्य Advertisement साइट से High Quality के Ads मिलते है जो सिर्फ उसी विषय से मिलता है।

तो जब भी ब्लॉग के लिए Niche ढूंढे तो सबसे छोटा ही ले हाँ यह बात जरूर ध्यान रखे की वह Niche पर अपना ज्ञान अच्छा हो तभी आप सही तरीके से प्रेजेंट कर सकते है।

2. भाषा (Language)

भाषा का तो अलग ही बात है क्योकि यहाँ हर कोई बस यही रट लगा के रखें है की भैया ब्लॉग बनाना है तो English में बनाओ क्योंकि इसी में मिलता है High CPC और बड़ा पैसा। सही है की नहीं ? और नए नए बेचारे इसी लालच में English में शुरू कर देते है ब्लॉग और आप लोग समझ ही गए होंगे की उस ब्लॉग का क्या होगा होगा।

इतना सोचने वाली बात है जिसे स्कूल की परीक्षा में Essay लिखने के लिए भी याद करना होता था और तब भी वह लिख नहीं पता था तो वह कैसे English में आर्टिकल लिखेगा ? कैसे उन लोगो के साथ कॉम्पिटिशन करेगा जो English में महारत रखते है।

हम आपको इस विषय में साधारण से ही बता रहें है की आप आपके लिए सबसे आसान भाषा को ही लें। चाहे वह English हो, हिंदी, मराठी, गुजरती, पंजाबी, बंगाली यहाँ तक की संस्कृत या आपके अपने चलित भाषा।

भाषा का मतलब होता है जिससे आप सही तरीके से अपना अनुभव, अपनी बातें अच्छे से से समझा सके। अगर यही काम नहीं हो पाया तो फिर किसी भी भाषा में काम कर लो कोई फायदा नहीं होगा।

सबसे पहले तो दूसरों का देखना बंद करें और वही भाषा से काम करें जो आपके के लिए आसान हो, बस यह ध्यान रखें की आपको सही तरीके से समझाना होगा।

3. डोमेन (Domain)

ज्यादातर लोग दूसरों का देखा देखि और कोई फेमस हो चुके ब्लॉग या वेबसइट के जैसे नाम अपने ब्लॉग के लिए सही मानते है और वैसा ही Domain भी खरीदते है। पर क्या अपने कभी ऐसा सोचा है की उन ब्लॉग या वेबसाइट का नाम कैसे रखा होगा ? उनके पहले तो ऐसे नाम वाले कोई ब्लॉग नहीं था, फिर कैसे रखा होगा ?

यह भी देखिये :   5 शानदार SEO के तरीके जो आपके Blog को टॉप पर ले जायेगा

समझने वाली बात यही है, किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट का नाम इस तर्ज पर न रखें की पहले से मिलता जुलता देख के ले ले, इसमें आपका घाटा है। बल्कि हैसा नाम रखें जो आपके ब्लॉग के काम को दर्शाता है चाहे कुछ भी नाम हो कोई फर्क नहीं पड़ता है।

Best Domain Name for SEO
Best Domain Name for SEO

और ठीक उसी नाम का Domain खरीदें ताकि आपके ब्लॉग को सही ढंग से सामने रख सके, आप लोगो ने कई बार देखे होंगे कई बड़े बड़े ब्लॉग या साईट है जिनका नाम अजीब है न तो उसका कोई मतलब होता है या कोई सही शब्द। फिर भी वह ब्लॉग काफी फेमस होता है।

कोई भी Domain खरीदने से पहले कुछ चीजों को ध्यान में रखें,

  1. जहाँ तक हो सके .com में लेने की कोशिश करें, यह सिर्फ इसलिए क्यूंकि .com सबके दिमाग में एक घर बना चूका है। इससे आपकी ब्लॉग लोग जल्दी से ढूंढ लेते है।
  2. कोई बात नहीं अगर .com नहीं मिला, आप कोई भी Domain ले सकते है, बस नाम पर ध्यान दें।
  3. कोशिश करें की छोटा Domain लेने की, 6-8 शब्द तक डोमेन बहुत अच्छा होता है। बाकि जरुरत के हिसाब से थोड़ा बड़ा भी चलता है। कोशिश करने में क्या जाता है छोटा नाम लेने में।
  4. अच्छी Domain कंपनी से डोमेन खरीदें जहाँ आपको अच्छे और सस्ते Domain  मिल जायेंगे। जैसे NameCheap एक बहुत ही शानदार Domain कंपनी है जो सस्ते के साथ काफी अच्छे सुविधांए फ्री में देते है।

इस तरह आप अपना सही डोमेन ले सकते है। थोड़ा सा टाइम दें कुछ नाम पर रिसर्च करें फिर खरीदें। डोमेन लेने के लिए बिलकुल जल्दबाजी न करें।

4. होस्टिंग (Hosting)

अब हम आपको बताते है Hosting के बारे में जो की बहुत जरुरी है क्योकि एक अच्छा होस्टिंग आपके ब्लॉग को सही परफॉर्मेंस देता है। हम आपको अच्छे Hosting के बारे में बता रहे न की मेहेंगे होस्टिंग के बारे में।

Best Hosting for SEO
Best Hosting for SEO

हर महंगा चीज़ अच्छा हो यह सही नहीं है, इसी लिए अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए एक अच्छा Hosting सही जगह से लेना बहुत जरुरी है, क्योंकि बहुत ऐसे Hosting Provider कंपनी मिल जाते है जो काफी सस्ते में होस्टिंग देते है पर उनकी खुद की साईट बहुत Down रहता है तो वो आपको सही UpTime, Speed, Security, Backup और भी बहुत कुछ कैसे दे सकते है।

ब्लॉग या वेबसाइट का परफॉर्मेंस, सर्वर का अपटाइम बगेहरा सही होने से Users आपकी साईट ज्यादा पसंद करेंगे। कुछ ऐसे Hosting Provider है जो सही मायनों में कम बजेट में शानदार Hosting देते है। BlueHost, HostGator, NameCheap जैसे Hosting Provider से आप काम का होस्टिंग ले सकते है वो भी आपके बजट में।

यह सभी Hosting Provider, सर्वर UpTime, Speed, Security, Backup और तमाम जरुरी चीजें देते है। होस्टिंग भी SEO का पार्ट है तो इसे ध्यान से चुने।

कोई भी बिना जाने पहचाने वाले Hosting कंपनी से होस्टिंग न ले, थोड़ा जांच करे और पैसों का भी जांच कर सकते है। ऊपर दिए हुए सभी Hosting Provider का उपयोग आज के समय में सबसे ज्यादा किया जाता है क्योकि सर्विस के साथ साथ यह सभी भरोसेमंद भी है।

5. टेम्पलेट और थीम (Templete/Theme )

हर नए ब्लॉगर अन्य ब्लॉगर के ब्लॉग या वेबसाइट को देख कर उनके जैसा Templete या Theme ले की कोशिश करते है। या फिर ऐसा थीम ले लेते है जो देखने में बहुत शानदार होते है। यह आम बात है और सौभाबिक है, नए लोग अपने ब्लॉग को सजाना चाहते है ताकि ज्यादा से ज्यादा Traffic मिल सके।

पर यहाँ एक छोटी गलती कर बैठते है जो SEO के लिए नुकशान होता है। असल में लोग जल्दी से खुलने वाले वेबसाइट या ब्लॉग पसंद करते है सिर्फ लोग ही नहीं बल्कि Search Engine भी।

इसी लिए सिर्फ शुरुआत में ही नहीं बल्कि हर समय ऐसे Templete या Theme  करना चाहिए जो  ही खुल जाये, आपको ऐसे Templete या Theme फ्री में भी मिला जाता है और आप खरीद भी सकते है।

शुरआती के टूर पर फ्री वाले ही उपयोग करें बाद में थोड़ा पैसे आने के बाद खरीद सकते है। ब्लॉग या साईट को  सजाने से अच्छा उसे पहले फास्ट बनाये जो SEO का बहुत बड़ा काम है।

आपको पता होना चाहिए की कोई भी साईट या ब्लॉग अगर 1 सेकंड भी देरी से खुलता है तो 30 से 40% traffic कोई दूसरी साईट पर चली जाती है।

6. कॉन्टेंट (Content)

अब आते है मुख्य बात पर जो है कॉन्टेंट अर्थात जो भी इनफार्मेशन (जानकारी) अपने वेबसाइट पर देते है। इसे आर्टिकल, पोस्ट, न्यूज़, अपडेट, इनफार्मेशन आदि जो भी कहे वह असल में कंटेंट ही होता है।

यह भी देखिये :   SEO क्या है? कैसे अपने वेबसाइट को रैंक करें? SEO Guide & Tips in Hindi

यह ऐसी चीज़ है जिसके लिए लोग ढूंढ़ते हुए आपके ब्लॉग या साईट तक आते है बिना कुछ किये। और इसकी बजह से आपका SEO इतना अच्छा हो जाता है की कोई भी Search Engine आपके साईट को पहले नंबर पर ही दिखायेगा।

यहाँ Content को पेजेंट करना ही मुख्य काम है, जैसा की हमने आपको पहले बताया की आप जो भी विषय को लेते है उस विषय पर आपका अच्छा ज्ञान होना जरुरी है। अपने ब्लॉग पर जो भी लिखते है या जानकारी देते है वह बिलकुल सठिक और अच्छे से जमा के स्टेप बाई स्टेप देना चाहिए।

कंटेंट हमेशा खुद से ही लिखे अपना अनुभव का पूरा निचोड़ दें, हर आर्टिकल पर अपना 100% देना चाहिए। इससे आपका आर्टिकल बहुत ही शानदार होगा, जो लोगों को पसंद भी आएगा और लोग आपके आगे के लेख के लिए इंतजार करेंगे।

कभी भी कोई आर्टिकल आधा अधूरा या ऐसा कुछ न दें जिसके बारे में आपको खुद ही नहीं मालूम। वही लिखे जो आपको सही मायने में पता हो। और जो भी टॉपिक ले उस पर सिर्फ उसी टॉपिक से जुड़े बातें लिखे, ईशर उधर की बात बिलकुल न करें।

अगर आप टॉपिक के अनुसार एक एक चीजों को अच्छे से दर्शाते है तो आपका SEO का मुख्य काम तो हो ही जायेगा।

7. फोटो का उपयोग (Use of Images)

ऊपर Content लिखना तो सिख लिया अब यह भी देख लीजिये की कोई आर्टिकल में फोटो किस प्रकार SEO में मदद करता है। कोई Search Engine सिर्फ Content ही सर्च नहीं करता बल्कि Image भी सर्च करता है।

ऐसे में अगर हम फोटो का उपयोग न करें तो SEO का एक स्टेप छोड़ देंगे, तो हमेशा अपने आर्टिकल के साथ Image का उपयोग जरूर करें।

Images for SEO
Images for SEO

अब कई बार देखा गया है की कई लोग बहुत सारे फोटो का उपयोग करते है, पर यह सही तरीका नहीं है Image का उपयोग जरूर करें पर मात्रा में उतना ही जितना जरुरत हो। जबरदस्ती कोई Image का उपयोग न करें।

एक बात और है, कई लोग कोई भी इमेज किसी भी साइज में डाल देते है। यह तो बिलकुल ही गलत है। हमेशा अपने इमेज का साइज उतना ही रखे जितना आपका वेब पेज है। सीधा सीधा कहें तो एक मीडियम साइज का इमेज उपयोग करना चाहिए।

अब कुछ और बात जो ध्यान देना चाहिए, हमेशा अपना इमेज Optimize कर लें। किसी भी ऑनलाइन फ्री Image optimization वेबसाइट के जरिये कर सकते है जैसे tinypng, jpegmini अदि जैसे और भी है। इससे आपका इमेज तो अच्छा दिखेगा लकिन उसकी साइज कम हो जाएगी। जैसे 400KB का इमेज 95KB हो जायेगा। इसके बारे में अच्छे से अन्य आर्टिकल में बताएँगे।

इमेज के Alt टैग में जरूर इमेज के सन्दर्भ में लिखे हो सके तो Title भी दे सकते है। यह SEO के लिए बहुत जरुरी है।

8. टाइटल, टैग, करेगोरी (Title, Category, Tag)

अपने हर आर्टिकल का टाइटल को ध्यान से देना चाहिए, न तो बहुत बड़ा टाइटल दे और न ही बहुत छोटा। 60 से 70 अक्षरों का टाइटल SEO के लिए अच्छा होता है।

साथ ही हर आर्टिकल के मुताबिक Category, Tag, Label सही से दे। ज्यादातर देखा जाता है की लोग अलसता या इसको ज्यादा जरुरी न समझकर जैसे तैसे दे देते है। आप ऐसा बिलकुल न करें।

जब भी कोई काम करें ठीक तरीके से करें। छोटी छोटी गलती के कारण SEO में फर्क पड़ता है। साथ ही अपने दूसरे आर्टिकल का लिंक नए आर्टिकल में जोड़े जिससे एक लिंकिंग बांड बनता है।

जब भी कोई आपके इस आर्टिकल में आते है तो और भी जरुरी आर्टिकलों का लिंक उन्हें यही मिलता है जिससे उनको भी काम की चीजें मिल जाते है और आपको ट्रैफिक।

 

ऊपर दिए हुए सभी जानकारी हकीकत में उपयोगी है, यह SEO सिर्फ बेसिक जानकारी नहीं है बल्कि इससे तो SEO का पूरा का पूरा 80 से 85% तक हो जाता है। बाकि बचे हुए लिए आपको रेगुलर काम करना पड़ेगा तो अपने आप सिख जायेंगे।

वैसे कुछ Tools का उपयोग कर इस काम को आसान बना सकते है। असल में कोई Tools चाहे वह Paid Tools हो या Free उनका काम आपको सहायता देना न की वह आपको 100% SEO करके दे देंगे।

आगे आपको Paid Tools और Free Tools के बारे में विस्तार से बताएँगे की क्या उपयोग करें क्या न करें? करे तो क्यों करें? कोनसा अच्छा है? क्या फायदा होगा और भी बहुत कुछ।

 

हमें लगता है अब आप SEO के बारे में अच्छे से समझ गए होंगे। अगर आप इस तरह अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर काम करते है तो अपने आप आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर अच्छा SEO हो जायेगा और आपकी साईट या ब्लॉग किसी भी Search Engine के सबसे पहले होगा।

अगर आपको SEO के बारे में और भी कुछ जानना हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम पूरी तरह आपकी सहायता करने की कोशिश करेंगे। धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *