Computer की संरचना क्या हैं? Structure of a Computer in Hindi

अभी तक आप लोगों ने कंप्यूटर क्या है? , कंप्यूटर की विशेषताएं? और कंप्यूटर की भाषा के बारे में जाना है। अब हम आपको Computer की संरचना के बारे में बताने वाले हैं। (What is the Structure of a Computer? Know about Computer Structure in Hindi.)

बेसिक कंप्यूटर में आपको हर वह चीज जानना जरूरी है जिसके अंतर्गत में आता है। इसी के अनुसार अब हम Computer की संरचना के बारे में बताने वाले हैं।

कमरे की संरचना वैसे थोड़ा जटिल है लेकिन हम आपके लिए इसे सरल भाषा में समझाने की कोशिश करेंगे। अगर ध्यान पूर्वक इसे समझते हैं तो आप को समझने में कोई कठिनाई नहीं होगी। तो चलिए Computer की संरचना के बारे में जान लेते हैं।

Structure of Computer in Hindi
Structure of Computer in Hindi

कंप्‍यूटर को पीढ़ी के अनुसार, कार्य के अनुसार और आकार के अनुसार कई भागों में बांटा गया है लेकिन शुरुआत से अब तक Computer की संरचना (Computer Structure) में कोई बदलाव नहीं आया है।

Contents

Input Unit:

इनपुट यूनिट कंप्‍यूटरके वह भाग हार्डवेयर होते हैं जिनके माध्यम से कंप्‍यूटर में कोई डाटा एंटर किया जा सकता है इनपुट के लिये आप की-बोर्ड, माउस इत्यादि इनपुट डिवाइस का प्रयोग करते हैं।

साथ हीकंप्‍यूटर को सॉफ्टवेयर के माध्यम से कमांड या निर्देश देते हैं यह (i/o devices) कहलाती है ।

Central Processing Unit:

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट इनपुट डाटा को प्रोसेस करता है। इसके लिये सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट और अर्थमेटिक लॉजिक यूनिट दोनों मिलकर अंकगणितीय गणना (Arithmetic Calculation) और तार्किक गणना करते हैं और डाटा को प्रोसेस करते हैं (CPU) को कंप्‍यूटर का मस्तिष्क कहा जाता है ।

Memory:

मेमोरी कंप्‍यूटर का वह भाग है यूजर द्वारा इनपुट किये डाटा और प्रोसेस डाटा को संग्रहित करती है, यह प्राथमिक और व्दितीय दो प्रकार की होती है।

उदाहरण के लिये रैम और हार्ड डिस्क, यह किसी फाइल या इनपुट की गयी फाइल को सुरक्षित रखती है वह डेटा मेमोरी में ही सेव होती है । मेमोरी दो प्रकार की होती है-

  1.  प्राथमिक मेमोरी
  2. व्दितीय मेमोरी

Output:

यूजर के द्वारा दि गयी Command को प्रोसेस करके इसकी आउटपुट आपको कंप्‍यूटर द्वारा प्राप्त होती है जैसे: मॉनिटर, प्रिंटर, स्पीकर और अन्य आउटपुट डिवाइस ।

 

 

Lack Of Intelligence: 

कम्प्यूटर एक मशीन है । उसमें मनुष्‍‍‍य के समान बुद्धिमता (Intelligence) नहीं है यह केवल यूजर द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन करता हैं, किसी भी स्थिति में कंप्‍यूटर न तो दिये गये निर्देशों से कम काम करता है ।

Lack Of Common Scene:

यह भी जानना जरूरी है कि कंप्‍यूटर कभी कोई गलती नहीं करता है, लेकिन अगर यूजर उससे गलत काम लेता है तो उसे इसका सामान्य बोध यानि Common Scene नहीं हाेता है।

अगर आपने कंप्‍यूटर को बताया नहीं है “सीमा एक लडकी है” तो वह उसे By Default लडका ही मानेगा, उसे नाम में फर्क करना नहीं आता है, Computer एक बुद्धिमान मशीन नहीं है यह सही या गलत कि पहचान नहीं कर पाती है ।

Dependence On Electricity:

कंप्‍यूटर को काम करने के लिये विद्युत (Electricity) की आवश्‍यकता होती है बिना विद्युत (Electricity) केे कंप्‍यूटर एक धातु के डब्‍बे से ज्‍यादा और कुछ नहीं है ।

Upgrade and Update: 

कम्प्यूटर एक ऐसी मशीन है जिसे समय समय पर अपग्रेड और अपडेट (Upgrade and Update) करना होता है यदि ऐसा नहीं किया तो कंप्‍यूटर ठीक प्रकार से कार्य नहीं कर पाता है ।

Virus threat: 

कंप्‍यूटर को हमेशा वायरस का खतरा बना रहता है, एक बार वायरस आने पर यह कंप्‍यूटर ऑपरेटिंग सिस्‍टम के साथ उसमें सुरक्षित फाइलों को भी नुकसान पहॅुचा सकता है ।

Leave a Comment