Facebook क्या हैं? फेसबुक की पूरी जानकारी – Facebook in Hindi

0
(0)
Facebook
आज के दौर में Social Media एक ऐसा Platform बन चुका है, जिससे लगभग सभी लोग वाक़िफ़ है और उसे इस्तेमाल भी करते है।
Social Media हमें उन लोगों से जोड़ता है जिनसे शायद समय की कमी के कारण, या जगह की दूरी के कारण, हम दूर होते जा रहे है।
ऐसे कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स है, जो हमें हमारे पेहचान वालों के पास लाती है। उन्हीं कुछ बहुत ही लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स में से एक Facebook है।
Facebook का नाम हम सभी ने सुना है, बहुत लोग इसे इस्तेमाल भी करते है, पर कुछ लोग ऐसे भी है, जो Facebook के बारे में नहीं जानते। ये Post उन्ही लोगों को Facebook के बारे में जानकारी देने के लिए है।

Facebook का इतिहास

Facebook का इतिहास
Facebook, बहुप्रसिद्ध व चर्चित एक ऐसी सोशल नेटवर्किंग साइट है जिसने, अनगिनत लोगों को अपनों से मिलवाया है।
फिर वह चाहे पुराने दोस्त हो, दूरदराज रहने वाले परिवार के सदस्य हो, या अन्य कोई करीबी जो दुनिया के किसी भी कोने मे हो, जिसे व्यक्ति ने सिर्फ याद ही किया हो, उसे भी Facebook के माध्यम से खोज सकते है।
Facebook एक ऐसी सोशल साइट है जिसके, माध्यम से हर पल की खबर अच्छी हो या बुरी, मेसेज या पिक्चर के माध्यम से शेयर कर सकते है।
बदलते वक्त के साथ Facebook ने खुद को बहुत Updated कर लिया है। जिस पर व्यक्ति को हर छोटी से छोटी बात, न्यूज़ रिपोर्ट, शॉपिंग आईडिया, क्राफ्ट, कुकिंग, विडियो और भी छोटी से छोटी बात का पता Facebook से लगाया जा सकता है।
फेसबुक का इतिहास बहुत ज्यादा पुराना तो नही है, परन्तु बहुत रोचक है. क्योंकि, फेसबुक ने बहुत कम समय मे बहुत जल्दी तरक्की हासिल की है।
Facebook का निर्माण, मार्क इलियट जुकेरबर्ग ने, अपने साथियों एडुआर्ड़ो सवेरिन ने व्यवसायिक पहलुओं, डीउस्टिन मोस्कोवीटज ने प्रोग्रामिग़ , एंड्रयू मककोल्लुम ने ग्राफिक्स आर्टिस्ट तथा च्रिस ह्यूज ने जुकेरबर्ग की वेबसाइट के प्रमोशन मे साहयता की।
इन सबके साथ मिल कर 4 फरवरी 2004 को किया. शुरू मे, हावर्ड विश्वविद्यालय मे ही इसकी समिति बनाई गई. धीरे-धीरे बोस्टन, आइवी लीग, स्टेनफोर्ड जैसे कई विश्वविद्यालयों मे इसका विस्तार किया गया।
2004 मे, कैलीफोर्निया स्थित मुख्यालय मे ,जुकेरबर्ग को अध्यक्ष के रूप मे चुना गया। इसे बहुत सुचारू रूप से निर्माण कर आगे बढाया गया है।
Facebook की शुरू से आज तक के प्रमुख बिन्दु :-
 
  1. अगस्त, 2005 मे इसे खरीद कर Facebook.com के नाम से रजिस्टर्ड किया गया। सितम्बर, 2005 मे इस पर हस्ताक्षर हुए. उसके बाद से अमेरिका व ब्रिटेन के सभी विश्वविद्यालय मे इसका प्रसार शुरू हुआ। उसके बाद धीरे-धीरे कर सम्पूर्ण विश्व मे इसका प्रसार शुरू हुआ।
  2. सितम्बर,2006 मे यह विस्तृत रूप मे, पूरे देश के सामने आया. तथा पंजीकृत बहुत पुराने ईमेल के पते के साथ, इस पर अपनी ईमेल आइडी बना कर इसे उपयोग किया जाने लगा। इसके साथ ही फेसबुक बड़ी-बड़ी वेबसाइट से जुड़ने लगी।
  3. 2007 मे, Facebook की प्रसिद्धि को देखते हुये कई बड़ी व्यापारिक कंपनिया व्यापार को बढ़ावा देने के लिए फेसबुक से जुड़ गई। जिससे फेसबुक को अरबोँ रुपयों का फायदा होने लगा। 2007 मे ही माइक्रोसॉफ्ट ने Facebook को खरीद कर इसे अंतर्राष्ट्रीय विज्ञापन के अधिकार प्राप्त कर इसमें शामिल किया।
  4. 2008 मे, आयरलैण्ड के डबलिन मे Facebook का अन्तर्राष्ट्रीय मुख्यालय खोलना तय हुआ. इसके साथ ही इसका उन्नति का ग्राफ बहुत तेजी से बड़ा।
  5. बढ़ती उन्नति के 2009 मे Facebook ने सारे रिकॉर्ड तोड़े और इस साइट पर यूजर्स की संख्या लाखों-करोड़ों मे पहुच गई।
  6. 2010 मे Facebook को लोगों की पसंद देखते हुए कई बड़ी मोबाईल कम्पनीयो, ऑनलाइन शॉपिंग कम्पनीयो के साझा कर बहुत बड़ी डील करी।
  7. 2011 मे, फेसबुक के बढ़ते उपयोग को देखते हुये, यूजर पर्सनल डाटा की सुरक्षा के लिए कुछ बदलाव किये.जिसके अंतर्गत यूजर अपने हिसाब से अपने अकाउंट की सेटिंग कर सकता है। जिससे साइबर क्राइम न हो पाये।
  8. 2012 मे, Facebook ने अपना खुद का रिकॉर्ड तोडा तथा अमेरिका मे इसके शेयर की कीमत बढ़ कर आसमान छुने लगी।
  9. 2013 से आज तारीख तक Facebook की एक आम रिपोर्ट भी निकाले, तो इसकी ख्याति इतनी बढ़ गई है, जिसे हर दूसरा व्यक्ति फेसबुक से परिचित है, और इसे उपयोग भी करता है।
हर तरीके से एक सामान्य मेसेज से ले कर, फोटो, विडियो, आवश्यक जानकारी, जोक्स, कविताएँ, कहानी-किस्से, कुकिंग की रेसिपी देखने से बनाने तक की विडियो, पूरे विश्व की तस्वीरे से विडियो तक, यहा तक की परीक्षा की तैयारी, शॉपिंग अन्य अनगिनत चीज़े जो की हम Facebook के माध्यम से देख ढूढ़ और पूछ सकते है।

Facebook का अविष्कार किसने किया ?

Facebook का अविष्कार किसने किया ?
फेसबुक किसने बनाया ये कुछ लोग जानते हैं लेकिन फिर भी बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें ये नहीं मालुम और जानना चाहते हैं की आखिर फेसबुक का अविष्कार किसने किया। कोई बात नहीं आज आपको ये पता चल जाएगा।
Facebook के जनक Mark Elliot Zuckerberg है। Mark Zuckerberg का जन्म 14 May 1984 में अमेरिका में हुआ था।
यही वो इंसान है जिसने अपने साथ पढने और रहने वाले हार्वर्ड कॉलेज के दोस्तों के साथ मिलकर फेसबुक बनाया, उनके फ्रेंड्स Dustin Moskovitz, Eduardo Saverin, Chris Hughes, और Andrew McCollum जिन्होंने फेसबुक बनाने में अपना योगदान दिया।
इस तरह दुनिया को एक ऐसा तोह्फ़ा दिया जो सभी को एक दूसरे के साथ जोड़े रखता है। अगर आप फेसबुक इस्तेमाल करते हैं तो जानते होंगे की ये हमें कितने फायदे देता है।
Facebook का परिचय 
Facebook का परिचय
Facebook Inc. एक अमेरिकन ऑनलाइन सोशल मीडिया और सोशल नेटवर्किंग पर based कंपनी है, जो कैलिफ़ोर्निया के मेनलो पार्क में है।
इस वेबसाइट को 4 फरवरी 2004 को लांच किया गया था। उस वक़्त इसका नाम The Facebook रखा गया था।
जब इसकी पॉपुलैरिटी बहुत बढ़ गयी तब जाकर 2005 में इसका नाम फेसबुक रखा गया। फेसबुक इंटरनेट में प्रयोग होने वाला फ्री सोशल नेटवर्किंग सर्विस है।
इस में कोई भी जिसकी उम्र कम से कम 13 साल हो रजिस्ट्रेशन कर के मेंबर बन सकते हैं वो भी बिलकुल फ्री में और एक बार सदस्य बन जाने के बाद दूसरे सदस्य बने हुये friends, रिलेटिव्स और दूसरे जान पहचान के लोगो से कांटेक्ट और बात कर सकते है। फेसबुक दूसरे भाषा के साथ हिंदी में काम करने की भी सुविधा देता है।
फेसबुक का इस्तेमाल बहुत तरह के डिवाइस से कर सकते हैं जिसमे इंटरनेट कनेक्शन होता है। जैसे कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन, टेबलेट में हम FB आराम से चला सकते है।
इस में रजिस्ट्रेशन कर लेने के बाद यूजर अपना प्रोफाइल बना सकता है और उसमें अपने डिटेल्स जैसे नाम,पता ऑक्यूपेशन (पेशा), स्कूल या कॉलेज नाम, डिग्री क्वालिफिकेशन, स्टेटस अपने विचार लिख कर पोस्ट कर सकता है।
अपने फीलिंग और इमोशंस को भी दूसरे लोगो तक पहुंचा सकता है। FB नए फ्रेंड्स जोड़ने की सुविधा देता है जिससे लोगो को फेसबुक के माध्यम से अपने फ्रेंड लिस्ट में जोड़ कर रख सकता है और कभी भी उन्हें मैसेज कर सकता है।
आप चाहे तो अपने फोटो अपलोड कर के जिसके साथ चाहे शेयर कर सकते है। ये फीचर मुझे बहुत पसंद है क्यों की आज भी जब मैं अपने 8 साल पुराने फोटोज देखता हूँ तो ख़ुशी होती है उस वक़्त को याद कर के इस तरह फेसबुक हमें अपने पुराने समय को दिखाकर ख़ुशी देता है।

Facebook क्या है ?

Facebook क्या है ?
फेसबुक को आम भाषा में “सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट” कहा जाता है, यानि अपने व्यक्तिगत, पारिवारिक, पेशावर और सामाजिक जीवन में जान पहचान के लोगों से जुड़ने और संवाद और जीवन के कई आयामों को उन लोगों के साथ साझा करने का माध्यम ।
आम तौर पर लोग फेसबुक का प्रयोग अपने पुराने मित्रों को खोजने, उनसे जुडने और अपने मित्रों, परिजनों और परिचितों के साथ सन्देश और चर्चा के लिए करते है।
फेसबुक के माध्यम से लोग अपने फोटो, वीडियो और अन्य पसंद के लिंक, समाचार, जानकारियां और रचनाएँ अपने मित्रों के साथ शेयर करते है।

फेसबुक की जानकारी

1. Marketplace :- इसका इस्तेमाल कर members चाहें तो post, read और respond कर सकते हैं classified ads को।
2. Groups :- इसका इस्तेमाल का members एक दुसरे के साथ interact कर सकते हैं जो की कोई common interests share करते हैं।
ऐसे groups में वो common interest के विषय में बातचीत कर सकते हैं। ये Groups या तो public होते हैं ये फिर private. Public में सभी join कर सकते हैं वहीँ Private में केवल invite मिलने पर ही आप join कर सकते हैं।
3. Events :- ये members को allow करते हैं किसी event को publicize करने के लिए, invite करने के लिए guests को और track करने के लिए की कौन इसमें attend करने वाले हैं।
4. Pages :- ये allow करते हैं members को create और promote करने के लिए किसी एक public page को जो की एक specific topic के around में build किया गया होता है।
5. Technology की Presence :- इससे members ये देख सकते हैं की उनके कौन से contacts online हैं जिनसे वो chat कर सकते हैं। इसके साथ आप live video stream कर सकते हैं जिसे की Facebook Live कहते हैं।

Facebook पर अकाउंट कैसे बनायें ?

Facebook पर अकाउंट कैसे बनायें ?

 

यदि आपने अभी तक फेसबुक पर अकाउंट नहीं बनाया है, तो निम्न प्रकार से अपना फेसबुक खाता आसानी से बना सकते है:-

पहला तरीका : फेसबुक का मोबाइल ऐप

अपने मोबाइल फ़ोन के ऐप स्टोर में जाकर “facebook” लिख कर खोजें और फेसबुक का ऐप डाउनलोड कर फेसबुक खाता बनायें।

 

दूसरा तरीका : फेसबुक की वेबसाइट

इस लिंक के माध्यम से फेसबुक की वेबसाइट पर जाएँ और अपना फेसबुक खाता बनायें।
  1. फेसबुक पर अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले अपने डिवाइस मे www.facebook.com टाइप करे।
  2. जो पेज खुलता है उस पर sign up for facebook लिखा हुआ होगा।
  3. अगर आप फेसबुक पर अपना अकाउंट बनाना चाहते है, तो नीचे दी गयी जानकारी को भरना होता है।
  4. इसमे सबसे पहले यूजर को अपना First Name यानि अपना नाम भरना होता है।
  5. फेसबुक पर अकाउंट बनाने के लिए दूसरे खंड मे यूजर को अपना last name यानि सरनेम भरना होता है।
  6. तीसरी खंड में मोबाइल नंबर या ई मेल आईडी भरनी होती है।
  7. इसके बाद यूजर को उसका लिंग का चुनाव करना होता है।
  8. इसके बाद के खंड मे यूजर को dd/mm/yyyy का विकल्प दिखाई देता है इसमे यूजर को उसकी जन्मतिथि का चुनाव करना होता है।
  9. अब सबसे आखरी विकल्प पासवर्ड का होता है इसमे यूजर को अपना एक ऐसा पासवर्ड सेट करना होता है जिससे कि वह अपने अकाउंट को दूसरों से सुरक्षित रख सके।

Facebook कैसे चलाते हैं ?

Facebook कैसे चलाते हैं ?
Facebook को design किया गया है मुख्य रूप से college students के लिए। इसलिए इसके primary users students ही हैं। तो चलिए अब कुछ basic features के विषय में जानते हैं facebook के :-
 
1.  इसमें identity के लिए एक profile picture का इस्तेमाल होता है।
2.  एक दुसरे के साथ जान पहचान बढ़ाने के लिए Contact information और About You space होता है।
3.  Wall यह एक ऐसा जगह होता है जहाँ आपके friends publicly comments post कर सकते हैं (एक digital bulletin board)
4. Status update यह एक ऐसा tab होता है जहाँ पर आप अपने दोस्तों को अपने बारे में और आप क्या कर रहे हैं के विषय में बताते हैं।
5.  News Feed इसमें regularly information update होते रहता है आपके friends के विषय में, groups जिन्हें आपने join किया, applications या friends जिन्हें उन लोगों ने add किया, साथ में अगर किसी ने कुछ भी change किया अपने profiles में तब वो उस feed में नज़र आता है।
6.  यह एक ऐसा Space है जिसका इस्तेमाल Photos और videos upload करने के लिए किया जाता है।
लेकिन Facebook में ऐसे और भी कई features हैं जिन्हें आप कहीं किसी दुसरे Social Software Sites में देख नहीं सकते हैं, ये customizable भी होते हैं और इनमें आप जितना चाहें उतना Application add कर सकते हैं।
साथ में facebook समय समय पर बहुत से ऐसे features भी add करता है जिनका इस्तेमाल आप अपने profile में आसानी से कर सकते हैं।

Facebook अकाउंट कैसे डिलीट करें ?

चलिए आज जानते हैं की आप Facebook अकाउंट कैसे डिलीट कर सकते हैं:-
एक बार यदि आपने फेसबुक अकाउंट को डिलीट कर दिया मतलब की ये account आपका हमेशा के डिलीट कर दिया जायेगा। फिर बाद में आप कोशिश करके भी उसे वापस नहीं ला पाएंगे, और न की उसे कभी खोल सकेंगे।
वहीँ यदि आप facebook account को deactivate करते हैं तब ये temporary delete होता है, वहीँ इसे आप वापस से recover कर सकते हैं।
यदि आपको सच में Facebook account delete करना है तब निचे की इस link पर click करें –
Delete My Account :- Delete Facebook
एक बार आपने इस link पर click कर दिया और deletion प्रक्रिया के लिए confirm कर दी, तब आपका account हमेशा के लिए delete हो जायेगा।
Facebook Account delete करने की प्रक्रिया :-
 
जब आप Delete वाले link को press करते हैं, तब आपको account password माँगा जाता है। वहीँ आपको ये जानकारी भी दी जायगी की अगर 14 दिनों तक आपने अपनी आईडी को लॉग इन नहीं किया तो आपका अकाउंट Permanently बंद हो जायेगा।
वहीँ अगर आप इस पर ओके पर क्लिक करोगे तब तुरंत ही आपका अकाउंट बंद हो जायेगा। इसीलिए delete करने से पहले एक बार link को click करने से पहले अच्छी तरीके से सोच समझ लें।

Facebook अकाउंट को अस्थायी रूप से हटाने का तरीका 

Facebook अकाउंट को अस्थायी रूप से निम्न चरणों में हटाया जा सकता है :-
  1. आपके वेब ब्रोव्ज़र में किसी भी फेसबुक पेज के शीर्ष में दाई ओर एक डाउन ऐरो बना हुआ है उस पर क्लिक करें।
  2. “सेटिंग” को सेलेक्ट करें।
  3. बाएँ स्तंभ में “सिक्यूरिटी” को चुने।
  4. “अपने अकाउंट को निष्क्रिय” करने के विकल्प को चुने, और फिर अपने निर्णय की पुष्टि करने के लिए आने वाले चरणों का पालन करें।
यदि आप वापस से अपने फेसबुक अकाउंट को सक्रिय करना चाहते है तो आपको सिर्फ अपने पुराने इ मेल एड्रेस और पासवर्ड के साथ फेसबुक पर लॉग इन करना होगा। आपकी प्रोफाइल फिर से पूरी तरह बहाल कर दी जाएगी।

Facebook account को स्थायी रूप से हटाने का तरीका 

अगर आपको नहीं लगता कि आप कभी भी दोबारा फेसबुक अकाउंट को इस्तेमाल करेंगे, तो आप स्थायी रूप से फेसबुक अकाउंट से हटाने के लिए अनुरोध कर सकते है।
हालाँकि एक बार फेसबुक अकाउंट डिलीट हो जाने के बाद आप उस पर दोबारा सक्रिय नहीं हो सकते है और ना ही आपनी प्रोफाइल को शेयर कर सकते है।
यह संभव नहीं है। अपनी प्रोफाइल को स्थायी रूप से हटाने के लिए आप इसे निष्क्रिय करने के बाद इस पर 3 महीने तक लॉग इन ना करें तो यह अपने आप ही पूरी तरह से डिलीट हो जाएगी।
ऐसा करने से पहले आप अपनी जानकारी को कॉपी करने के लिए इसे फेसबुक से निम्न प्रकार से डाउनलोड कर सकते हैं।
  1. आपके वेब ब्रोव्ज़र में किसी भी फेसबुक पेज के शीर्ष में दाई ओर एक डाउन ऐरो बना हुआ है उस पर क्लिक करें।
  2. “सेटिंग” को सेलेक्ट करें।
  3. इसके बाद मुख्य मेनू के नीचे एक लिंक पर क्लिक करें जो कहती है “Download a copy of your facebook data”. इससे आप अपने डेटा को डाउनलोड कर सकते हैं।
आप अपनी फेसबुक प्रोफाइल की जानकरी एक ऐसी फाइल में रखें, जहाँ आप इसे रखने के बारे में बहुत ही सावधान रहेंगे। इस तरह आप अपने फेसबुक अकाउंट को स्थायी और अस्थायी दोनों प्रकार से डिलीट कर सकते हैं।
Note :- वहीँ अगर आपको लगता है कि आपने अपना अकाउंट किसी गलती से या फिर गुस्से में आकर Delete कर दिया है तो आप अकाउंट डिलीट करने के 14 दिनों के भीतर उसी ID/Password से लॉग इन कर, आपना अकाउंट वापस चालू कर सकते है।

फेसबुक Messenger

फेसबुक Messenger
अगर आपने अभी तक भी Facebook join नहीं किया है तब आपको जरुर थोडा अलग-अलग सा लग रहा होगा, क्यूंकि वे अक्सर likes, posts, hashtags, updating status जैसे शब्दों का इस्तमाल करते होंगे।
लेकिन दुःख होने की बात नहीं है क्यूंकि ऐसे बहुत से terms और phrases हैं जिनका इस्तमाल ‘Language of Facebook’ में किया जाता है।
वैसे ये सभी words का पहले dictionary में मतलब होता था लेकिन अभी Facebook ने उन words का अब purpose बदल दिया है।
Warning :- ये words शुरुवात में थोडा confusing हो सकते हैं लेकिन एक बार इसके विषय में जानके आपको और तकलीफ नहीं होगी।
Status Update :- ये text based posts होते हैं जो की user के mood को describe कर सकते हैं, साथ में विचार भी, या कोई दूसरी चीज़ भी आप अपने दोस्तों के साथ उन्हें share कर सकते हैं।
Timeline :- यह एक page के तरह होता है सभी profile में यहाँ पर आप अपने information जैसे की आपके pictures, basic information जैसे की favorite books, entertainment shows, celebrity इत्यादि share कर सकते हैं।
News Feed :- इसे आप सोच सकते हैं आपके status और आपके दोस्तों के timeline का combination. News Feed आपको show करते हैं updates आपके friends के और जो भी recent posts होते हैं Facebook pages या groups के जिन्हें आप follow करते हैं। इसी जगह में आप अपना सबसे ज्यादा समय व्यतीत करते हैं।
Like :- अगर आपको कोई post पसदं आया हो चाहे वो किसी friend का हो, या किसी page का या कोई group का, आप चाहें तो उस post पर like या dislike कर सकते हैं। इससे आप उन post पर directly पहुँच सकते हैं। If you enjoyed and want to reach on the profiles of your friends then you choose to Like or Dislike the post.
Tag :- इसमें आप अपने friends को mark कर सकते हैं जो की आपको relevant लगे किसी picture या status के लिए जिन्हें आप अपने timeline में upload करना चाहते हैं।
ये फिर appear होते हैं आपके friends के timeline में और साथ में उनके newsfeed में भी इसके अलावा उन्हें एक notification भी मिलता है की उन्हें किसी ने tag किया है। आप चाहें तो इन tags को हटा भी सकते हैं या रख भी सकते हैं।
Notification :- इन्हें आप Facebook update भी कह सकते हैं, जहाँ Facebook में आप किनके साथ interact किया या कोई events और occasions में participate किया हैं इसके विषय में आपको पता चल जायेगा।
इसमें आप यदि कहीं पर react करें या किसी को comment करें भी तब भी आपको notification मिल जाता है।

फेसबुक के क्या क्या है उपयोग ?

फेसबुक मुख्यतः निम्न कार्यों के लिए उपयोग किया जाता है :-
  1. अपने मित्रों, परिजनों और परिचितों से जुड़ने और उनके बारे में अधिक जानकारी हासिल करने के लिए।
  2. अपने पसंद के क्षेत्र से जुड़े लोगों से जुड़ने के लिए।
  3. फेसबुक से जुड़े लोगों से मुफ्त में संवाद के लिए।
  4. अपने जीवन से जुडी महत्वपूर्ण घटनाओं और जानकारियों को अपने परिचितों के साथ शेयर करने के लिए।
  5. फेसबुक वीडियो कालिंग।
  6. फेसबुक मेसेंजर चैट।
  7. फेसबुक ग्रुप।
  8. फेसबुक पेज।
  9. महत्वपूर्ण व्यक्तियों से जुड़ने और जानकारियाँ हासिल करने के लिए।
  10. अपने पसंद की कंपनियों और प्रतिष्ठानों से जुड़ने और जानकारियाँ हासिल करने के लिए।
  11. किसी व्यक्ति, वस्तु या विचारधारा का प्रचार-प्रसार करने के लिए।
  12. मनोरंजन के लिए – फोटो, वीडियो, लिंक इत्यादि।
  13. अपने बिज़नेस / कारोबार के प्रसार-प्रचार के लिए।
  14. ऑनलाइन विज्ञापन करने के लिए।

 

फेसबुक की विशेषताएं 

  1. आप अपने फेसबुक अकाउंट मे फोटो, स्टेटस, वीडियो और विज्ञापन आदि अपलोड कर सकते है।
  2. फेसबुक पर आप अपने किसी भी दोस्त से बात भी कर सकते है।
  3. फेसबुक मे आप अपने किसी और दोस्त की प्रोफाइल पर जाकर उसके लिए स्टेटस जैसे जन्मदिन की बधाई भी प्रकाशित कर सकते है।
  4. फेसबुक मे यूजर की सुरक्षा के लिए कई विकल्प दिये होते है जैसे वह अपने फोटो ओर स्टेटस को किसके साथ शेयर करना चाहता है सिर्फ अपने दोस्तों के साथ या सभी के साथ।
  5. फेसबुक मे अगर यूजर चाहे तो वह अपने दोस्त की फोटो या स्टेटस को लाइक या उसपर कमेंट कर सकता है।
  6. फेसबुक का उपयोग कई कम्पनियां अपना प्रमोशन करने के लिए खुद का पेज बनाकर करती है।
  7. 2014 मे फेसबुक ने नयी सुविधा लॉंच की जिसमे अगर यूजर चाहे तो वह अपनी लोकेशन को चेक इन  कर सकता है साथ मे वह उस समय की फोटो भी अपलोड़ कर सकता है यह उसकी यादों के रूप मे हमेशा सुरक्षित रहती है।
  8. कुछ समय पहले फेसबुक ने फेसबुक मैसेंजर लॉंच किया है। इसमे वाट्स अप की तरह ही सारी सुविधा उपलब्ध है।
  9. फेसबुक तथा फेसबुक मैसेंजर मे विभिन्न स्माय्ली दिये गये है जिसकी सहायता से यूजर अपनी भावना व्यक्त कर सकता है।

Facebook पर waving का मतलब क्या है?

Facebook में एक waving feature होता है। इसका इस्तमाल किसी नए लोग से conversation प्रारंभ करने के लिए किया जाता है।
इसमें एक user दुसरे user को messenger में wave करता है मतलब की हाथ हिलाता है, greeting करने के लिए. ये एक ऐसा संकेत हैं की आप उनसे आगे बात करना चाहते हैं।

WhatsApp Facebook पर 1k का मतलब क्या होता है?

अगर में Whatsapp या Facebook के बात करूँ तब उसमें इस्तमाल होने वाला 1k का मतलब होता है 1 हज़ार. अक्सर हम Facebook में किसी photos में 1k likes देखते हैं इसका मतलब है की 1 हज़ार लोगों ने उस photo को like किया है।

Facebook और Networking

Facebook और Networking
Facebook एक ऐसा चीज़ हैं जिसका आप जैसे चाहे वैसा इस्तमाल कर सकते हैं। मतलब की ये आपके लिए एक serious professional tool बन सकता है।
एक हसी मजाक करने का स्थान बन सकता है, एक entertainment का स्थान भी बन सकता है, या दोनों का combination भी बन सकता है।
Ultimately, इसमें आपके पास ही पूरा control होता है आप क्या अपने profile में add करना चाहें और किसके साथ उसे share करना चाहें।
Facebook एक बहुत ही बड़ा valuable networking tool होता है – क्यूंकि जैसे जैसे ज्यादा “adult-users” join होने लगे Facebook में।
तब यहाँ एक possibility बनती है ऐसे दुसरे similar professionals के साथ connect होने के लिए जिनका की आप जैसे ही interest हो। इससे आप एक साथ और एक दुसरे की मदद करके ऊँचा उठ सकते हैं।
इसके साथ Facebook एक बहुत useful resource बन सकता है staff के लिए एक बड़े organization में. Applications जैसे की Events, Photos और Videos के मदद से networks एक दुसरे के साथ ज्यादा सहजता से communicate कर सकते हैं जो की ज्यादा आसान होता है email से।
बहुत से professional और academic organizations भी present होते हैं Facebook में और वो अलग अलग role अदा करते हैं Facebook में उनके types के अनुसार।
जहाँ कुछ केवल individuals को target करते हैं वहीँ कुछ एक बड़े community को target करते हैं, वहीँ कुछ location specific होते हैं तो कुछ event specific होते हैं।
Facebook आपके networking opportunities के awareness को expand करने में मदद करती है। जैसे ही कोई Facebook friends join करता है groups को और declare करता है की वो उस organization के fan हैं तब ऐसे करते हैं आपको Facebook News Feed के माध्यम से notification प्राप्त हो जायेगा।
इसके साथ आप चाहें तो उन लोगों और groups को search का सकते हैं जो की आपके जैसे ही interest share करते हैं।
Discussion Boards, Walls और ऐसे दुसरे applications हैं Facebook में जो की आपको बहुत opportunity प्रदान करते हैं share करने के लिए।

Facebook और Fun

Facebook बहुत से अलग अलग प्रकार के games, videos, links, apps जैसे बहुत से fun चीज़ों से भरा हुआ है. ये बात तो मानना होगा की Facebook के सही माईने में social nature के होने के कारन बहुत से applications ज्यादा fun होते हैं जब उन्हें दोस्तों के साथ इस्तमाल किया जाता है।
अगर आपको कभी लगे की आपको जिस game को खेलने के लिए किसी दोस्त ने invite भेजा है तब आप इसे ignore भी कर सकते हैं।
इससे आपका response आपके दोस्तों के साथ share नहीं किया जायेगा। Similarly, आप उस सभी applications को block भी कर सकते हैं जो की आपको पसदं नहीं हैं।
एक बात हमेशा याद रखें की Facebook का इस्तमाल सभी लोगों के लिए अलग अलग होता है। जहाँ कुछ इसका इस्तमाल networking के लिए करते हैं वहीँ कुछ socializing के लिए तो कुछ academic के लिए करते हैं।
कुछ तो केवल fun activities के लिए करते हैं। इसलिए हमें सभी choices की respect करनी चाहिए और खुद को जैसे ठीक लगे उसे वैसा इस्तमाल करना चाहिए।

 Facebook के फायदे और नुक्सान

हम सभी जानते हैं की हर सिक्के के 2 पहलु होते है। ठीक उसी तरह fb इस्तेमाल करने के भी बहुत सारे फायदे तो हैं लेकिन इसके कुछ नुकसान भी है।
जब भी कोई नया अविष्कार होता है तो कुछ अच्छाई के साथ बुराई भी लेकर आता है। चलिए पहले जानते हैं की fb से हमें क्या फायदे है।

Facebook के फायदे

  1. आज की दुनिया बहुत सुपरफास्ट हो चुकि है। ऐसे में लोगों के पास दूसरे लोगो के लिए बिलकुल भी वक़्त नहीं है। फेसबुक एक ऐसा माध्यम है जिससे लोग कभी भी और कहीं से भी आसानी से जुड़ सकते हैं और चैटिंग कर सकते हैं।
  2. फ़ेसबूक हर किसी को अपनी फीलिंग शेयर करने के option भी देता है की आप जब कोई पोस्ट पब्लिश करने के लिए जाते हैं तो ये पूछता है की आप ये लिखते हुये कैसा फील कर रहे है। साथ ही आप अपनी फीलिंग को दूसरो को send भी कर सकते है।
  3. फ़ेसबूक में हर तरह के केटेगरी और टॉपिक पर pages और groups बने हुये है। जिन्हे ज्वाइन कर के आप हर तरह की अपनी जानकारी निकाल सकते है।
  4. आज क़रीब 2 अरब से ज्यादा लोग fb में रजिस्टर्ड है। इस का मतलब ये है की दुनिया का हर 7वां आदमी फेसबुक का इस्तेमाल करता है।
  5. अगर आप ने किसी से सवाल किया हो भाई अपना fb की id दे दो और उसका जवाब अगर ये आया हो की नहीं भाई मैं fb नहीं चलता तो उस वक़्त तो लगता है जैसे की कौन हो भाई जो तुम fb में नहीं हो अभी तक
  6. फ़ेसबूक बिज़नेस को प्रमोट करने का सबसे बेहतर प्लेटफार्म है। यहाँ बहुत कम पैसे खर्च के अधिक लोगो तक पहुंचा जा सकता है। इस के advertisement कैंपेन बहुत सस्ते होते है।
  7. Entertainment के लिहाज से भी फेसबुक बहुत फ़ायदेमंद है। यहाँ बहुत सारे ऐसे groups और pages हैं जहाँ मनोरंजन कर आप अपनी बोरिंग लाइफ को colorful बना सकते हैं।

Facebook के नुकसान

Facebook के नुकसान
  1. फेसबुक अपने हर यूजर को प्राइवेसी सेटिंग करने की सुविधा देता है लेकिन बहुत सारे लोग इसके बारे में नॉलेज नहीं रखते। इस कारण उनका अकाउंट सेफ नहीं रहता है और उनके अकाउंट को कोई दूसरे एक्सेस कर लेते है।
  2. Fb प्रयोग करने में एक चीज़ लोगों को कभी कभी पसंद नहीं आती वो ये है की जब आप छींक भी मारते हैं तो हर किसी को फेसबुक में पता चल जाता है वो भी नोटिफ़िकेशन के जरिये। ये फीचर बहुत बार तो अच्छा लगता है लेकिन कभी कभी सरदर्द भी बन जाता है।
  3. बहुत से ऐसे ग्रुप्स और पेज हैं जहाँ लोग गलत शब्दों का प्रयोग कर के एक दूसरे की भावनाओं को ठेस पहुंचाते है.  जो बहुत ही गलत बात है।
  4. कुछ लोग दूसरो के information जानने के लिए गलत तरीको को अपनाता हैं और जानकारी हासिल करते है. इसके लिए वो प्रोग्रामिंग का सहारा लेते है।
  5. Facebook addiction fb ज्यादा use करने से पैदा हुई बीमारी है. जो युथ में काफी ज्यादा फैली हुई है। लोग अधिक समय fb में गुजारते हैं और बिना मतलब के अपना वक़्त बर्बाद करते हैं। जो स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स होते हैं उनकी पढाई भी कई बार सिर्फ fb की वजह से बर्बाद हो जाती है।
  6. बहुत सारे लोग गलत information से अकाउंट बनाते हैं। जो की फेसबुक के नियमों के खिलाफ है। ऐसे पाये जाने वाले अकाउंट को फेसबुक ब्लॉक कर देती है।

संक्षेप में

अगर कोई इंसान फेसबुक में नहीं है तो इसका मतलब है वो दुनिया से अलग है या दुनिया से कटा हुआ है।  जो इस का इस्तेमाल नहीं करते उन्हें भी fb की जानकारी जरूर होती है।
लेकिन जो इस साइट से जुड़ा हुआ है उसे लगभग ये तो मालूम होता ही है की इसका इस्तेमाल कैसे करते हैं।
दोस्तों फेसबुक क्या है की जानकारी कैसे लगी? फेसबुक के फायदे और नुक्सान क्या हैं ये आप ने देख लिया है। साथ ही ये भी जाना की फेसबुक का इतिहास क्या है?
मुझे उम्मीद है की आपको ये पोस्ट अच्छी लगी होगी। अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे Facebook, Twitter, Instagram, Pinterest में शेयर करे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment