SQL क्या हैं? SQL के बारें में विस्तार से जानिए?

0
(0)

 What is SQL? Know SQL in Details in Hindi?

 
SQL
SQL

SQL एक लैग्‍वेज हैं जो डेटाबेस को ऑपरेट करती है; इसमें डेटाबेस क्रिएशन, डिलीट, डेटाबेस से विशिष्‍ट डेटा प्राप्‍त करना आदि शामिल हैं। SQL एक ANSI (American National Standards Institute) स्‍टैंडर्ड लैग्‍वेज है, लेकिन SQL लैग्‍वेज के कई अलग-अलग वर्जन हैं।


हिस्ट्री ऑफ़ SQL

SQL की उत्पत्ति हमें 1970 के दशक में वापस ले जाती है, जब IBM लैबोरेट्रीज में, नया डाटाबेस सॉफ़्टवेयर बनाया गया था – जिसका नाम था System R और System R में स्‍टोर डेटा को मैनेज करने के लिए, SQL लैग्‍वेज बनाई गई थी।

सबसे पहले इसे SEQUEL कहा जाता था, यह एक नाम है जिसे अभी भी SQL के लिए एक वैकल्पिक उच्चारण के रूप में प्रयोग किया जाता है, लेकिन इसे बाद में से सिर्फ SQL में बदल दिया गया था।

1979 में, रिलेशनल सॉफ्टवेयर नाम कि कंपनी, जो बाद में ओरेकल बन गई, ने SQL के कमर्शियल पोटेंशियल को देखा और Oracle V 2 नाम का अपना मॉडिफाइड वर्जन जारी किया।

अब अपने तीसरे दशक के अस्तित्व में, SQL डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस को सपोर्ट करके यूजर्स के लिए ग्रेट फ्लेक्सिबिलिटी ऑफर करता है, अर्थात् जिसे एक समय में कई कंप्यूटर नेटवर्क पर रन किया जा सकता है। ANSI और ISO द्वारा प्रमाणित, SQL एक डाटाबेस क्वेरी लैंग्वेज स्टैंडर्ड बन गया है।

यह इंडस्‍ट्री-लेवल और एजूकेशन आवश्यकताओं दोनों को सर्व करता है और इसका इस्तेमाल पर्सनल कंप्यूटर और कॉर्पोरेट सर्वर दोनों पर किया जाता है। डेटाबेस टेक्नोलॉजी की प्रोग्रेस के साथ SQL-बेस ऐप्‍लीकेशन रेग्‍यूलर यूजर्स के लिए तेजी से सस्ते हो गए हैं। यह विभिन्न ओपन सोर्स SQL डाटाबेस सोल्‍यूशन जैसे कि MySQL, PostgreSQL, SQLite, Fire bird, और कई अन्य की शुरूआत के कारण है।


SQL का परिचय 

SQL एक स्टैन्डर्डाइज़्ड प्रोग्रामिंग लैग्‍वेज है जिसका उपयोग रिलेशनल डेटाबेस को मैनेज करने और उनके डेटा में विभिन्न ऑपरेशन को करने के लिए किया जाता है। SQL स्ट्रक्चर्ड क्वेरी लैंग्वेज है, जो रिलेशनल डेटाबेस में स्‍टोर डेटा को स्‍टोर करने, मनिप्युलैट और रिट्रव करने के लिए एक कंप्यूटर लैग्‍वेज है।

Relational Database System के लिए SQL एक स्‍टैंडर्ड लैग्‍वेज है। MySQL, MS Access, Oracle, Sybase, Informix, Postgres और SQL Server जैसे सभी Relational Database Management Systems (R-DBMS) उनके स्‍टैंडर्ड डेटाबेस लैग्‍वेज के रूप में SQL का इस्‍तेमाल करते हैं।

SQL को डेटा शेयर करने और मैनेज करने के लिए उपयोग किया जाता है, विशेषकर डेटा जो रिलेशनल डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम में पाया जाता है – डेटा को टेबल और कई फाइलों में ऑर्गनाइज़ किया जाता है, प्रत्येक में डेटा के टेबल होते हैं, वे कॉमन फ़ील्ड द्वारा एक साथ रिलेटेड हो सकते हैं।

SQL का उपयोग कर आप क्वेरी (डेटाबेस से इनफॉर्मेशन कि रिक्‍वेस्‍ट), अपडेट और डेटा को फिर से रि-ऑर्गनाइज़ कर सकते हैं, साथ ही एक डेटाबेस सिस्टम की स्कीमा (स्ट्रक्चर) को बना और मॉडिफाइ कर सकते हैं, और डेटा एक्‍सेस को कंट्रोल कर सकते हैं। SQL सर्वर के लिए उपयोग किए जाने वाले कॉमन सॉफ़्टवेयर में Microsoft Access, MySQL, और Oracle शामिल हैं।


SQL क्या हैं?

यह एक तरह की लैंग्वेज होती है। इस लैंग्वेज के माध्यम से डेटाबेस को एक्सेस किया जाता है। इस लैंग्वेज का प्रयोग डेटाबेस पर किसी ऑपरेशन को परफॉर्म करने के लिए किया जाता है। यह लैंग्वेज डाटा को डेटाबेस में संग्रहित करने, उसे मेनीपुलेट करने के लिए एक प्रकार की कंप्यूटर लैंग्वेज होती है।

SQL एक स्टैण्डर्ड लैंग्वेज है और स्टैण्डर्ड लैंग्वेज होने के बाद भी ओरेकल, माइक्रोसॉफ्ट अपने अनुसार इसका इस्तेमाल करते है जिसकी वजह यह है की इस लैंग्वेज का स्टैण्डर्ड कठिन है जिसे पूर्ण रूप से Execute करना मुश्किल होता है। इसकी एक और वजह यह भी होती है की प्रत्येक वेंडर को अपने सॉफ़्टवेयर को अन्य सॉफ़्टवेयर से अलग दिखाना होता है।

SQL ऐसी भाषा है जो Relational Database सिस्टम के लिए Interface प्रदान करती है। यह एक Computer की भाषा है जिसे Relational Database में डेटा को प्राप्त और प्रबंधन किया गया है। SQL एक ANSI Criterion है जो अमेरिकी राष्ट्रीय Standard संस्थान के लिए खड़ा है।

सभी Database Professionals को पता होना चाहिए कि SQL को कैसे लिखना, और कैसे SQL की समस्या का निवारण करना है. यह tutorial SQL की बुनियादी बातों से शुरू होता है, जैसे कि Data को कैसे पुनः प्राप्त और हेर फेर करना है।

Database को लगभग सभी Software Applications में पाया जा सकता है। SQL Database को क्वेरी करने के लिए एक मानक भाषा है। बाजार में कई Relational Database हैं कुछ लोकप्रिय है। जिनमे MySQL, MS-SQL सर्वर, MS-Access, ओरेकल और IBM’s की DB 2 शामिल हैं।

हालांकि अधिकांश Database सिस्टम SQL का उपयोग करते हैं, उनमें से ज्यादातर के पास अपने स्वयं के अतिरिक्त Ownership एक्सटेंशन होते हैं,जो आमतौर पर केवल उनके सिस्टम पर ही यूज़ होते हैं ।

हालाँकि, Standard SQL कमांड जैसे कि Select, Insert, Delete, or Create, का इस्तेमाल लगभग सभी चीज़ों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है। यह Blog आपको प्रत्येक Command के आधार पर निर्देश प्रदान करेगा साथ ही आपको SQL इंटरप्रीटर का उपयोग करने के लिए उन्हें प्रेरित करने की अनुमति देगा।

NoSQL क्या है?

NoSQL डेटाबेस प्रबंधन प्रणालियों की एक नई श्रेणी है। सबसे महत्वपूर्ण विशेषता संबंधपरक डेटाबेस अवधारणाओं के साथ गैर-अनुपालन है। NoSQL “एसक्यूएल नहीं”।
NoSQL डेटाबेस की अवधारणा इंटरनेट दिग्गजों जैसे Google, फेसबुक, अमेज़ॅन आदि के साथ बढ़ी है जो विशाल मात्रा में व्यवहार करते हैं बड़ा डेटा।
यदि आप भारी मात्रा में डेटा के लिए एक रिलेशनल डेटाबेस का उपयोग करते हैं, तो सिस्टम धीमा हो जाता है और प्रतिक्रिया का समय बिगड़ जाता है।
इसे दूर करने के लिए, मौजूदा हार्डवेयर को अपग्रेड करके सिस्टम को बढ़ाया जा सकता है।
उपरोक्त समस्या का पहला बोधगम्य विकल्प यह होगा कि लोड बढ़ने पर कई मेजबानों पर डेटाबेस लोड वितरित किया जाए। इसे “स्केलिंग अप” के रूप में जाना जाता है।
एक NoSQL डेटाबेस के होते हैं गैर-संबंधपरक डेटाबेस संबंधपरक डेटाबेस की तुलना में बेहतर और वेब अनुप्रयोगों को ध्यान में रखकर बनाया गया।
वे डेटा को खोजने के लिए एसक्यूएल का उपयोग नहीं करते हैं और रिलेशनल डेटाबेस मॉडल जैसी सख्त योजनाओं का पालन नहीं करते हैं। 
NoSQL के साथ, ACID (Atomicity, Consistency, अलगाव, स्थायित्व) गुणों की हमेशा गारंटी नहीं होती है, इसलिए परिणाम हमेशा समान नहीं हो सकते हैं, जबकि एक UPDATE प्रमुख डेटा को याद नहीं करेगा।

SQL के प्रकार 

SQL में कुछ तरह के Keywords का इस्तेमाल करके कमांड दी जाती है जिसे SQL Statement भी कहते है। SQL में तीन तरह के Statement होते है जिनके बारे में आपको नीचे बताया गया है।
DDL (Data Definition Language):- इसका इस्तेमाल डेटाबेस को स्पष्ट करने के लिए किया जाता है। इससे आप विभिन्न तरह के टास्क को परफॉर्म कर सकते है। इसके प्रयोग से Existing Table में नए तरह के रो और कॉलम को जोड़ सकते है, डेटाबेस को बना सकते है और Remove भी कर सकते है। इसके द्वारा नई Table को क्रिएट किया जा सकता है।
DML (Data Definition Language):- DML का प्रयोग डाटा को एक्सेस करके मेनीपुलेट करने के लिए किया जाता है। DML के इस्तेमाल से डाटा को अपडेट भी कर सकते है, डाटा डिलीट कर सकते है। DML से Table में डाटा Enter करवाया जा सकता है इसके प्रयोग से 2 Table को मर्ज भी किया जा सकता है।
TCL (Transmission Control Language):- DML से डाटा में जिस तरह के बदलाव आते है उसे TCL Statement मैनेज करता है। अगर किसी बदलाव को Permanent या Undo करना हो तो इसका प्रयोग किया जाता है।

SQL क्या कर सकता है?

  1. SQL एक डेटाबेस में क्वेरी एक्सेक्यूट कर सकता हैं।
  2. SQL डाटाबेस से डेटा रिट्रीव (पुनः प्राप्त) कर सकता है।
  3. SQL एक डेटाबेस में रिकॉर्ड इनसर्ट कर सकता हैं।
  4. SQL डेटाबेस में रिकॉर्ड को अपडेट कर सकता है।
  5. SQL डेटाबेस में रिकॉर्ड को डिलीट कर सकता है।
  6. SQL एक नया डाटाबेस बना सकता है।
  7. SQL एक डेटाबेस में नया टेबल बना सकता है।

NoSQL के बाद SQL सीखना क्यों उपयोगी है?

NoSQL डेटाबेस (रिलेशनल मॉडल की तुलना में बेहतर स्केलिंग) के लाभों के साथ, आपको आश्चर्य हो सकता है कि लोग अभी भी संगठनों में रिलेशनल डेटाबेस का उपयोग क्यों करना चाहते हैं।
इसका उत्तर यह है कि NoSQL डेटाबेस एक तरह के अति विशिष्ट सिस्टम हैं जिनका अपना विशेष उपयोग और सीमाएँ हैं। NoSQL उन लोगों के लिए अधिक उपयुक्त है जिनके पास संसाधित करने के लिए भारी मात्रा में डेटा है। अधिकांश संगठन संगठनों से संबंधित डेटाबेस और संबंधित उपकरणों का उपयोग करते हैं।

SQL के कार्य

SQL के द्वारा डेटाबेस को मेनेज किया जाता हैं, जैसे की डेटाबेस में किसी प्रकार का कोई बदलब करना हो, किसी एंट्री को बदलना या डिलीट करना हो या फिर कोई जानकारी उसमें डालनी हो। यह सब कार्य SQL (Structured Query Language) के द्वारा ही संपन्न किया जाता हैं।  
SQL को इस्तेमाल करने के लिए आपको किसी बढ़िया Configuration के कंप्युटर या लेपटॉप पर इसका सॉफ्टवेयर डालना है, और फिर IP या सिस्टम नाम के द्वारा डेटाबेस को SQL से जोड़ना है, इसके बाद आप को डेटाबेस को SQL से जोड़ना हैं, इसके बाद आप को डेटाबेस का Access प्राप्त हो जायेगा, जिससे आप अपने मन मुताबिक डेटाबेस पर कार्य कर सकेंगे।   

SQL की विशेषताएँ 

SQL की क्या विशेषताएँ होती है और इसके द्वारा क्या-क्या कार्य किये जाते है यह हम आगे जानेंगे:-

  1. SQL से डेटाबेस को फिर से प्राप्त किया जा सकता है।
  2. यह डेटाबेस में रिकॉर्ड को अपडेट करने का कार्य करता है।
  3. SQL नए डेटाबेस को बनाने के लिए भी प्रयोग किया जाता है।
  4. SQL डेटाबेस में क्वेरी एक्सीक्यूट करने का भी कार्य करता है।
  5. इससे डेटाबेस में नई Table को क्रिएट किया जा सकता है।


SQL का उपयोग 

चलिए अब जानते हैं की SQL का क्या काम है और इसके जरिये Database से जुड़े कौन कौन से Operation Perform किये जा सकते हैं:-
  1. SQL से आप एक नया Database Create कर सकते हैं।
  2. किसी डेटाबेस से डाटा Retrieve कर सकते हैं यानि Data को निकालकर उपयोग कर सकते हैं।
  3. डेटाबेस में नए डेटा Insert कर सकते हैं।
  4. पहले से मौजूद Data को Update या Modify कर सकते हैं। 
  5. डेटा को Delete कर सकते हैं।
  6. एक Database के अंदर आप नया Table Create कर सकते हैं।
  7. Table को Drop यानि डिलीट भी कर सकते है।
  8. Views, Stored Procedures और Functions Create कर सकते हैं।
  9. Tables, Procedures और Views के लिए Permission Set कर सकते हैं।  


SQL के कमांड 

SQL की जो सबसे प्रमुख कमांड होती है वह आपको नीचे बताई गई है। जानते है इसकी मुख्य कमांड के बारे में:-
Select:- यह डेटाबेस से डाटा को निकालता है।
Delete:- डाटा को डिलीट करता है।
Update:- डेटाबेस में डाटा को अपडेट करने का काम करता है।
Insert Into:- इसके द्वारा डेटाबेस में नया डाटा इन्सर्ट किया जाता है।
Alter Database:- यह डेटाबेस को मॉडिफाई करने का काम करता है।
Drop Index:- इंडेक्स डिलीट कर सकते है।
Create Table:- नया table बना सकते है।

Create Database:- नए डेटाबेस को क्रिएट करता है।


SQL के लैग्‍वेज के कई एलिमेंट

SQL लैग्‍वेज कई एलिमेंट पर आधारित है। SQL डेवलपर्स की सुविधा के लिए संबंधित डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम में सभी आवश्यक लैग्‍वेज कमांड आमतौर पर एक विशिष्ट SQL कमांड लाइन इंटरफेस (CLI) के माध्यम से एक्सेक्यूट होते हैं।
Clauses:- Clauses स्‍टेटमेंट और क्वेरीज के कंपोनेंट हैं।
 Expressions:- Expressions स्केलर वैल्‍यू या टेबल को प्रोडयुस कर सकते हैं, जिसमें डेटा के कॉलम और रोज शामिल होती हैं।
Predicates:- वे कंडिशन को स्‍पेसिफाइ करते हैं, जिनका प्रयोग स्‍टेटमेंट और क्वेरीज के इफेक्‍ट को सीमित करने के लिए किया जाता है, या प्रोग्राम के फ्लो को बदलने के लिए किया जाता है।
Queries:- एक Queries दिए गए क्राइटेरिया के आधार पर डेटा को रिट्रीव करती हैं।
Statements:- Statements से कोई भी ट्रैन्ज़ैक्शन, प्रोगाम फ्लो, कनेक्शन, सेशन या डायग्नोस्टिक्स को कंट्रोल कर सकता है। डेटाबेस सिस्टम में SQL स्टेटमेंट्स को क्लाइंट प्रोग्राम से सर्वर तक क्वेरीज भेजने के लिए उपयोग किया जाता हैं, जहां डेटाबेस स्‍टोर होता हैं।
जवाब में, सर्वर SQL स्टेटमेंट को प्रोसेस करता है और क्लाइंट प्रोग्राम को रिप्‍लाइ देता है। इससे यूजर्स सरल डेटा इनपुट से लेकर कॉम्प्लिकेटेड क्वेरीज तक आश्चर्यजनक रूप से फास्‍ट डेटा मैनीप्‍युलेशन ऑपरेशन की एक विस्तृत श्रृंखला एक्सेक्यूट कर सकते है।
SQL Queries:- SQL क्वेरीज़ सबसे कॉमन और आवश्यक SQL ऑपरेशन हैं। एक SQL क्वेरी के माध्यम से, एक आवश्यक इनफॉर्मेशन के लिए डेटाबेस को सर्च कर सकते हैं।
SQL क्‍वेरीज को “SELECT” स्‍टेटमेंट के साथ एक्‍सेक्‍यूट किया जाता है। कई clauses की मदद से एक SQL क्वेरी अधिक स्पेसिफिक हो सकती है:
FROM:- यह टेबल को इंडिकेट करता हैं जहां पर सर्च किया जाएगा।
WHERE:- इसका उपयोग Rows को डिफाइन करने के लिए किया जाता है, जिसमें सर्च किया जाएगा। सभी Rows, जिसके लिए WHERE Clause सच नहीं है, को बाहर रखा जाएगा।
ORDER BY:- SQL में रिजल्‍ट को सॉर्ट करने का यह एकमात्र तरीका है अन्यथा, वे एक रैंडम ऑर्डर में रिटर्न आ जाएंगे।
एक SQL क्वेरी उदाहरण:-
SELECT * FROM
WHERE active
ORDER BY LastName, FirstName
SQL SELECT Statement:- SELECT स्‍टेटमेंट का उपयोग डेटाबेस से डेटा को सिलेक्‍ट करने के लिए किया जाता है। रिटर्न डेटा को रिजल्‍ट टेबल में स्‍टोर किया जाता हैं, जिसे result-set कहां जाता हैं।
SELECT Syntax:-
SELECT column1, column2, …
FROM table_name;
यहां, column1, column2, … टेबल के फ़ील्ड नेम है जिनसे आप डेटा को सिलेक्‍ट करना चाहते हैं। यदि आप टेबल में उपलब्ध सभी फ़ील्ड को सिलेक्‍ट करना चाहते हैं, तो निम्न सिंटैक्स का उपयोग करें।
SELECT * FROM table_name;
SQL SELECT Statement

आपको SQL सिंटैक्स का उपयोग कैसे करना चाहिए?

SQL सिंटैक्स हम इन डेटाबेस में उपयोग करते हैं बहुत सुंदर हैं। इसीलिए यह एक मानक भाषा भी है। कुछ डेटाबेस कुछ अलग सिंटैक्स का उपयोग करते हैं या अपने स्वयं के कुछ सिंटैक्स का उपयोग करते हैं।
SQL कथन के उदाहरण:-
चुनें * सदस्यों से जहां उम्र> 30
अद्यतन सदस्य उम्र = 29 आईडी = 402

MySQL क्या हैं?

यह Relational Database Management System है। MySQL को 1994 में विकसित किया गया था। स्वीडिश कंपनी MySQL AB ने इसकी शुरुआत की। वर्ष 2008 में सन माइक्रोसिस्टम कंपनी ने MySQL AB को Purchase कर लिया और 2010 में ओरेकल कॉरपोरेशन को बेच दिया था।
यह SQL का उपयोग करता है। इससे हम डेटाबेस को क्रिएट कर सकते है और मैनेज कर सकते है। MySQL ओरेकल द्वारा डिज़ाइन की गई है। डेटाबेस के लिए वर्डप्रेस MySQL का प्रयोग करता है। MySQL एक फ्री ओपन सोर्स सॉफ्टवेर होता है। MySQL का प्रयोग लॉगिंग एप्लीकेशन, ई-कॉमर्स, डाटा वेयरहाउसिंग आदि में किया जाता है।

SQL और MySQL के अंतर 

SQL और MySQL में कुछ मुख्य तरह के अंतर होते है इन दोनों में क्या अंतर है हम आगे जानेंगे:-

  1. डेटाबेस को क्रिएट करने के लिए SQL का इस्तेमाल किया जाता है। SQL Queries की मदद से MySQL में डाटा को मेनिपुलेट, ऐड और डिलीट कर सकते है।
  2. MySQL डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम है और SQL एक लैंग्वेज है।
  3. SQL Query Language है। इसके प्रयोग से डेटाबेस को एक्सेस कर सकते है जबकि MySQL Open Source Database है।


SQL के फायदे 

बहुत से लोग इस लैंग्वेज का प्रयोग करते है क्योंकि इसके कई तरह के फायदे होते है। जानते है SQL के क्या फायदे है:-
  1. यह लैंग्वेज डाटा को Manipulate करने की सुविधा देती है।
  2. उपयोगकर्ता डाटा को Describe भी कर सकते है।
  3. SQL Language को कोई भी व्यक्ति आसानी से सीख सकता है।
  4. उपयोगकर्ता प्रोसीजर स्टोर भी कर सकते है, व्यू को क्रिएट भी कर सकते है।
  5. यह कई तरह की DBMS Supporter होती है जैसे – MySQL, Oracle, MySQL Server और MS Access आदि।
  6. यह लैंग्वेज उपयोगकर्ता को RDBMS में डाटा को एक्सेस करने के लिए अनुमति प्रदान करता है।


SQL के नुकसान 

जिस तरह से SQL के कई तरह के फायदे है उसी प्रकार से SQL के कुछ नुकसान भी होते है जानते है इसके नुकसान के बारे में:-
  1. इस लैंग्वेज का इंटरफ़ेस बहुत ही कठिन होता है जिससे बहुत ही कम यूज़र इसे एक्सेस कर पाते है।
  2. SQL के कुछ Version की Cost बहुत ज्यादा होती है तो इसे क्रिएट करने में कठिनाई होती है।
  3. पूरी तरह से Table Objects पर निर्भर रहता है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment