Visual Basic क्या हैं? Visual Basic के बारें में विस्तार से जानिए?

What is Visual Basic? Know Visual Basic in Details in Hindi?


VISUAL BASIC
VISUAL BASIC
विजुअल बेसिक माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन द्वारा बनाया गया एक एप्लीकेशन टूल या प्रोग्रामिंग भाषा है जो बेसिक भाषा का नया रूप है। विजुअल बेसिक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड पर आधारित प्रोग्रामिंग भाषा है। यह ग्राफिक यूजर इंटरफेस आधारित एप्लीकेशन बनाने में बहुत मदद करता हैं। 

हिस्ट्री ऑफ़ विजुअल बेसिक

1960 के दशक के बाद अमेरिकी शिक्षक जॉन को एक ऐसी प्रोग्रामिंग भाषा जरूरत थी जिसे वह अपने विद्यार्थियों को आसानी से सिखा सकें। लेकिन उस समय सभी प्रोग्रामिंग भाषाएँ काफी कठिन हुआ करती थी और उन्हें केवल पेशेवर लोग ही जाना करते थे। इसके परिणामस्वरूप जॉन ने एक प्रोग्रामिंग भाषा बनाई थी। 
जिसका नाम बेसिक(BASIC) रखा था। जिसका पूरा नाम Beginner’s All-purpose Symbolic Instruction Code था। सरल और शक्तिशाली होने के कारण यह बहुत कम समय में प्रचलित हो गई।विजुअल बेसिक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड पर आधारित प्रोग्रामिंग भाषा है। यह ग्राफिक यूजर इंटरफेस आधारित एप्लीकेशन बनाने में बहुत मदद करता हैं।

विजुअल बेसिक का परिचय 

विसुअल बेसिक/Visual Basic एक कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषा है, जिसको सीखकर आप कंप्यूटर के लिए किसी भी सॉफ्टवेयर का निर्माण कर सकते हैं। इसे VB भी कहा जाता है। इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आप आसानी से सिख सकते हैं। यह Programming Language तीसरी पीढ़ी की Event Driven प्रोग्रामिंग भाषा के अंतर्गत आती है। 
विसुअल बेसिक Programming Language की मुख्य विशेषता यह है, कि इसके द्वारा आप बड़ी सरलता से किसी भी User की आवश्यकता के अनुसार किसी भी Application/Software को Devlope कर सकते हैं। Visual Basic में Integrated Development Environment यानि  IDE को Contained कर आप माऊस के माध्यम से अपने Application का Developement कर सकते हैं। 
इसके साथ-साथ आपको Keyboard के माध्यम से Code को टाइप करना होता है, जो कि Executable होना चाहिए। इस Programming language में काफी सारे Built in code होते हैं। इस Code को कोई भी Programmer आसानी से Execute कर सकता है। Visual Basic लैंग्वेज में इसका खास फीचर Database Handeling होता है, जिसके कारण इस भाषा का आधा Application Development इसके माध्यम से ही Control किया जाता है। Visual Basic Programming Language, हमें Internet को Access करने के लिए भी सुविधा प्रदान करती है।

विजुअल बेसिक क्या है?

पिछले कुछ सालों में कंप्यूटर पूरी तरह से बदल चुके हैं पहले के अधिकांश कंप्यूटरों में केवल एमएस डॉस चलता पर आधारित होते थे अर्थात कैरेक्टर यूज़र इंटरफेस। लेकिन आजकल के नए कंप्यूटर ग्राफिक यूजर इंटरफेस पर आधारित होते हैं। 
जिनमें माउस द्वारा सभी कार्य किया जाता है। ग्राफिक यूजर इंटरफेस का सबसे अच्छा उदाहरण फ्री माइक्रोसॉफ्ट विंडोज है। विंडोज के इस युग में ग्राफिक यूजर इंटरफेस पर आधारित प्रोग्रामिंग भाषाओं की जरूरत महसूस हुई। इसी क्रम में माइक्रोसॉफ्ट द्वारा कुछ प्रोग्रामिंग भाषाओं का विकास किया गया जैसे विजुअल सी++, विजुअल बेसिक, विजुअल जावा आदि।
विजुअल बेसिक माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन द्वारा बनाया गया एक एप्लीकेशन टूल या प्रोग्रामिंग भाषा है जो बेसिक भाषा का नया रूप है। इस प्रोग्रामिंग भाषा में एप्लीकेशन के लिए प्रोग्राम ग्राफिक यूजर इंटरफेस पर बनाए जा सकते हैं। इस पर एक्टिव कंट्रोल तथा इंटरनेट आधारित एप्लीकेशन भी बनाए जा सकती हैं।

विजुअल बेसिक के वर्शन 

विजुअल बेसिक को बेसिक/BASIC भाषा से बनाया गया है। साल 1991 में इस भाषा को Microsoft Corporation द्वारा विकसित किया गया था। इसे माइक्रोसॉफ्ट ने अपने Operating System विंडोज/Windows के लिए विकसित किया था। यह बाकि Programming Language की तुलना में काफी आसान होती है। विज़ुअल बेसिक का सफर इसे शुरुआती वर्जन 1.0 से लेकर 6.0 तक रहा, जो की साल 2008 में ख़त्म हो गया।
  1. Microsoft Visual Basic: 1.0  1991
  2. Microsoft Visual Basic: 2.0  1992
  3. Microsoft Visual Basic: 3.0  1993
  4. Microsoft Visual Basic: 4.0  1995
  5. Microsoft Visual Basic: 5.0  1997
  6. Microsoft Visual Basic: 6.0  1998 to 2008
साल 2008 के बाद माइक्रोसॉफ्ट ने Visual Basic को प्रायोजित करना बंद कर दिया और उसके बाद उन्होंने एक नयी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का शुभारंभ किया जिसका नाम है VB.Net, इस भाषा को माइक्रोसॉफ्ट द्वारा 2002 में विकसित किया गया था, लेकिन इसे 2008 में सार्वजानिक रूप से जारी किया गया। हमारे अगले लेख में हम VB.Net के बारे में आपको विस्तार से बताएंगे। आइये पहले जान लेते हैं विज़ुअल बेसिक के कुछ खास फीचर के बारे में। 

विज़ुअल बेसिक के संस्करण

Development के आधार पर विज़ुअल बेसिक भाषा को तीन चरणों में बांटा गया है, जो इस प्रकार से है:-

  1. Visual Basic Learning Edition 
  2. Visual Basic Professional Edition 
  3. Visual Basic Enterprise Edition
Visual Basic Learning Edition:- इस संस्करण में Microsoft Window और Window NT में Programme से Powerful Application का निर्माण किया जा सकता है। 
Visual Basic Professional Edition:- इस संस्करण में Learning Edition के सारे गुणों के अलावा ActiveX Controls, Internet Information, Server Application Designer, Integrated Page Designer इत्यादि को शामिल किया गया है। 
Visual Basic Enterprise Edition:- इस संस्करण में Learning Edition और Profesional Edition के अलावा Distributable Application बनानेके साथ SQL Server, Microsoft Transaction Server, IIS, SNA Server आदि की सुविधा प्रदान की गई है। 

विजुअल बेसिक को इंस्टॉल करना

विजुअल बेसिक माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन द्वारा बनाया गया विजुअल स्टुडियो का हिस्सा है। अगर आपको अपने कंप्यूटर में विजुअल बेसिक को इंस्टॉल करने है तो विजुअल स्टुडियो 6 की सीडी को खरीदना होगा। 
आप इसे माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन की आधिकारिक साइट पर जाकर भी डाउनलोड कर सकते हैं।डाउनलोड होने के बाद आपको setup.exe को खोलना है और दिये गए निर्देशों का पालन करते हुए आगे बढ़ना है सभी निर्देश पूरे हो जाने के बाद विजुअल स्टूडियो 6 आपके कंप्यूटर में इंस्टॉल हो जाएगा।

विजुअल बेसिक को शुरू करना

  1. सबसे पहले स्टार्ट बटन पर क्लिक करें।
  2. उसके बाद ऑल प्रोग्राम बटन पर क्लिक करें।
  3. फिर माइक्रोसॉफ्ट विजुअल स्टूडियो 6 पर क्लिक करें।
  4. माइक्रोसॉफ्ट विजुअल स्टूडियो 6 में जाकर विजुअल बेसिक 6 पर क्लिक करें।
  5. विजुअल बेसिक 6 खुल जाएगा।

विज़ुअल बेसिक की विशेषताएँ 

Integrated Development Environment:- ये प्रोग्रामिंग भाषा Visual Studio का प्रयोग करते हुये डेवलपर को Integrated Development Environment प्रदान करती है, जिसका प्रयोग GUI के लिए प्रोग्राम बनाने मे होता है। इसमें कई विंडोज होती हैं जैसे –Properties Window, Toolbox, etc.
User Interface Design:- ये प्रोग्रामिंग भाषा User Interface को डिज़ाइन करने की सुविधा देती है। इसमे डिज़ाइन करने के लिए Windows Form Designer होता है, जो की Toolbox की सहायता से UI design करने मे सहायता करता है।
Rapid Application Development:- ये प्रोग्रामिंग भाषा Application Development को Support करता है, जिसमें यूजर को सभी Code लिखने की आवश्यकता नहीं होती, आप इसमें जैसे ही Form डिज़ाइन करते हैं आपके बहुत से कोड Autometicaly ही आ जाते हैं। 
Object-Oriented Programming:- ये प्रोग्रामिंग भाषा Object-Oriented होती है जो की OOPs के सभी फीचर को Support करती है।
Object-Based Language:- ये प्रोग्रामिंग भाषा Object-Based Programming Language है, क्यूंकि आप किसी भी Application का निर्माण सीधे इसके Tools से कर सकते हैं। यूजर इसमें Clipboard और Printer को Access कर सकते हैं और साथ ही Mouse और Keyboard को Responds किया जा सकता है। 
Powerful Database Access:- ये प्रोग्रामिंग भाषा आपको Powerful Database Access Tool की सुविधा देती है जिसके द्वारा आप Front End Database आसानी से बना सकते हैं।  
ActiveX Technology:- इस प्रोग्रामिंग भाषा में ActiveX Technology की सुविधा मौजूद होती है, जिसके द्वारा आप दूसरी एप्लीकेशन की सुविधा का उपयोग भी कर सकते हैं जैसे- Microsoft Word, Excel इत्यादि।
 
Easy to Debugging:- इस प्रोग्रामिंग भाषा में आप Error की हैंडलिंग आसानी से की जा सकती है, और उसे Debugg किया जा। 
Package Development Wizard:- ये प्रोग्रामिंग भाषा Package Development Wizard का सपोर्ट करती है, जिसके द्वारा आप एप्लीकेशन को बड़ी आसानी से Distribute कर सकते हैं। 
Easy to Use:- इस प्रोग्रामिंग भाषा में आप Array, Mathmetical, String, Handling और Graphic  Function का उपयोग बड़ी आसानी से कर सकते हैं, और साथ ही Internet और Intranet की सुविधाओं को भी Access कर सकते हैं। 

विजुअल बेसिक की उपयोगिता

विजुअल बेसिक (visual basic ) programming language में Built -in code होते है जिसको programmer आसानी से handle कर सकता है । visual basic की मुख्य significance database handling features है । Database handling सुविधा के कारण ही इस प्रोग्रामिंग भाषा का आधा application इसके माध्यम से control किया जाता है।

विजुअल बेसिक के फ़ीचर्स 

Integrated Development Environment:- यह language Visual Studio का प्रयोग करते हुये Integrated Development Environmentप्रदान करता है जिसका प्रयोग GUI के लिए प्रोग्राम बनाने मे होता है। 
User Interface Design:- यह language user interface को design करने की सुविधा देती है।

विजुअल एनवायरमेंट

विजुअल बेसिक में तीन चीजें होती है:-
  1. कंट्रोल (Control)
  2. प्रॉपर्टी (Property)
  3. इवैंट (Event)
Control:- कंट्रोल वह चीजे होती है जो एप्लीकेशन और उसको उपयोग करने वाले के बीच में कार्य को आसान बनाने में मदद करती हैं जैसे टेक्स्ट बॉक्स, बटन, फॉर्म आदि।
Property:- इसी भी चीज अर्थात कंट्रोल में उसके कुछ गुण भी होते हैं। जैसे उसका बैकग्राउंड का रंग, लंबाई, चौड़ाई आदि इन सभी को कंट्रोल की प्रॉपर्टी कहा जाता है।

Event:- जैसा कि इसके नाम से प्रतीत हो रहा है कि यह किसी घटना के बारे में बता रहा है। विजुअल बेसिक में इवैंट का अर्थ होता है जब यूजर किसी प्रकार का कोई एक्शन लेता है तो उस पर एप्लीकेशन को क्या करना चाहिए यह डिफाइन होता है। 
उदाहरण के लिए यूजर किसी बटन क्लिक करता है तो बटन पर क्लिक होने के बाद एप्लीकेशन को क्या प्रतिक्रिया देनी चाहिए यह इवेंट में डिफाइन होता है।

डिबगिंग करना 

  1. इसमें बड़ी आसानी से debugger और error-hainding की जा सकती है ।
  2. इस Programming language में Package Development wizard है । जिसमें आप अपने Application को बड़ी सुगमता से Distributing कर सकते हैं ।
  3. इस Programming language में Array , Mathmetical , String , Handling और Graphic  function का उपयोग बड़ी सरलता से किया जा सकता है ।
  4. इसका प्रयोग Graphical User Interface के लिए किया जाता है। यह language Windows operating system के लिए Windows Applications, Websites etc. बनाने की सुविधा देता है।

विजुअल बेसिक ही क्यों और कोई क्यों नहीं?

जैसा की हम आपको पहले ही बता चुके हैं यह बहुत अधिक शक्तिशाली और सरल है। अन्य प्रोग्रामिंग भाषाओं की तुलना में भविष्य में इसका प्रचलन खत्म होना बहुत मुश्किल है। 
क्योंकि यह कई तरह की सुविधाएं प्रदान करती है जैसे इंटरनेट आधारित एप्लीकेशन को बनाना आदि। विजुअल बेसिक भविष्य बहुत अच्छा है. क्योंकि इसे माइक्रोसॉफ्ट जैसी बड़ी कंपनी द्वारा बनाया गया है इसलिए इसका प्रचलन खत्म होना बहुत मुश्किल है।

विजुअल बेसिक के फ़ायदें 

  1. मूल प्रोग्रामिंग भाषा की संरचना बहुत सरल है, विशेष रूप से निष्पादन योग्य कोड के रूप में।
  2. VB न केवल एक भाषा है, बल्कि मुख्य रूप से एक एकीकृत, इंटरैक्टिव विकास वातावरण (“IDE”) है।
  3. VB-IDE को तीव्र अनुप्रयोग विकास (“RAD”) का समर्थन करने के लिए अत्यधिक अनुकूलित किया गया है। ग्राफिकल यूजर इंटरफेस विकसित करना और एप्लिकेशन द्वारा प्रदान किए गए हैंडलर फ़ंक्शन से उन्हें जोड़ना विशेष रूप से आसान है।
  4. VB-IDE का ग्राफिकल यूजर इंटरफेस बड़े और विभिन्न प्रकार के संस्थानों (कक्षाओं, मॉड्यूल, प्रक्रियाओं, रूपों,…) में प्रोग्राम संरचना के प्रबंधन के लिए सहज रूप से आकर्षक विचार प्रदान करता है।
  5. वीबी एक व्यापक इंटरैक्टिव और संदर्भ-संवेदनशील ऑनलाइन सहायता प्रणाली प्रदान करता है।
  6. प्रोग्राम टेक्स्ट को संपादित करते समय “IntelliSense” तकनीक आपको कुछ पॉपअप विंडो में वर्तमान कर्सर स्थान पर दर्ज किए जाने वाले निर्माणों के प्रकारों के बारे में सूचित करती है।
  7. VB एक घटक एकीकरण भाषा है जो Microsoft के घटक ऑब्जेक्ट मॉडल (“COM”) से संबंधित है।
  8. COM घटकों को अलग-अलग भाषाओं में लिखा जा सकता है और फिर VB का उपयोग करके अक्षम किया जा सकता है।
  9. COM घटकों के इंटरफेस को आसानी से वितरित COM (“DCOM”) के माध्यम से दूर से कहा जा सकता है, जो वितरित अनुप्रयोगों का निर्माण करना आसान बनाता है।
  10. COM घटकों को आपके एप्लिकेशन के यूजर इंटरफेस से जोड़ा जा सकता है और उन्हें / संग्रहीत दस्तावेजों में भी जोड़ा जा सकता है (ऑब्जेक्ट लिंकिंग और एंबेडिंग “OLE”, “यौगिक दस्तावेज़”)।
  11. कई अलग-अलग उद्देश्यों के लिए आसानी से उपलब्ध COM घटकों का खजाना है।
  12. Visual Basic सभी Microsoft विज़ुअल भाषाओं द्वारा उपयोग किए जाने वाले .NET वातावरण के आसपास बनाया गया है, इसलिए विज़ुअल बेसिक में ऐसा बहुत कम किया जा सकता है जो अन्य भाषाओं में किया जा सकता है (जैसे C #)।

विजुअल बेसिक के हानियाँ 

  1. Visual Basic Microsoft के द्वारा लिखी गई एक मालिकाना प्रोग्रामिंग भाषा है, इसलिए Visual Basic में लिखे गए प्रोग्राम आसानी से अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम में स्थानांतरित नहीं किए जा सकते हैं।
  2. सी। सी के साथ तुलना में कुछ मामूली नुकसान हैं, एरे की बेहतर घोषणा है – इसकी घोषणा समय में सी में संरचनाओं की एक सरणी को शुरू करना संभव है; VB में यह असंभव है।

विजुअल बेसिक और विजुअल बेसिक प्रोग्राम में अन्तर

  1. विजुअल बेसिक ( Visual Basic ) एक Tool है जिसका उपयोग विन्डो ( Window ) Application बनाने के लिए किया जाता है । विजुअल बेसिक ( Visual Basic ) , BASIC Programming language का Extension है ।
  2. दोनों में मुख्या  अंतर यह है कि ,  Visual Basic में विन्डो ( Graphical User Interface ) Application बनाने के लिए किया जाता है जबकि BASIC का उपयोग DOS Program  बनाने के लिए किया जाता है ।
  3. Visual Basic Programming Language की मुख्य विशेषता यह है कि इसमें अत्यंत सुगमता से
  4. User के आवश्यकता के अनुसार आप Application का Devlope कर सकते हैं ।
  5. इसमें Integrated Development Environment ( IDE ) को निहित कर सकते हैं जो कि
  6. आप माऊस के माध्यम से अपने Application का विकास कर सकते हैं।
  7. और साथ – साथ Keyboard के माध्यम से Code को टाइप करते हैं जो कि Execute होता है , विजुअल बेसिक ( Visual Basic ) Programming language में Built in code होते हैं।
  8. जिसको programmer आसानी से handle कर सकता है । visual Basic की मुख्य Significance database handling features है ।  Database Handling सुविधा के कारण ही इस प्रोग्रामिंग भाषा का आधा application इसके माध्यम से control किया है ।
  9. यह Visual Basic Programming Language का अत्यधिक built-in feature है . Visual Basic Programming Language , Internet को Access करने के लिए भी सुविधा प्रदान  करता है ।
  10. Visual Basic विभिन्न प्रकार के Application Edition हैं । जैसे – Microsoft Word , Microsoft । Excel , Microsoft. 

Leave a Comment