अग्निपथ योजना 2022 क्या है? अग्निपथ में आवेदन कैसे करे? जानिए ऑनलाइन पद्धति

आइये जानिए अग्निपथ योजना क्या है? अग्निपथ योजना का उद्देश्य क्या है? अग्निपथ योजना में आवेदन कैसे करे? अग्निपथ योजना का वेतन,बीमा और अन्य सुविधाएँ क्या क्या है? इसके साथ और भी जरुरी जानकारी जो सभी को जानना चाहिए। 

भारत सरकार द्वारा भारतीय सेना में कम अवधि के लिये एक नई योजना की शुरुआत की गई है, जिसका नाम अग्निपथ योजना रखा गया हैं। अग्निपथ योजना के माध्यम से अब दसवीं व बारहवीं पास युवाओं को भी सेना के तीनों अंगों थल सेना, जल सेना और नौसेना में अग्निवीर के रूप में 4 साल तक सेलेक्ट हुये युवाओं को सैनिको के रूप में देश की सेवा करने का मौका मिलेंगे।

अग्निपथ योजना क्या है? अग्निपथ आवेदन कैसे करे? जानिए
अग्निपथ योजना क्या है? अग्निपथ आवेदन कैसे करे? जानिए

अग्निपथ योजना के लागू होते हि वे सभी भर्तियाँ रुक गया है, या जो भर्तियाँ चल रहे थे उनको भी तत्काल रद्द कर दी गई हैं। अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के लागू हो जाने से वे सारी भर्तियाँ जिनका आना रहे गया था या फिर जिनकी स्कीम (Scheme) के आने से पहले जो प्रक्रिया चल रहा था वे सारे के सारे तत्काल में रद्द कर दी गई हैं।

अग्निपथ योजना के बारे में पूरी जानकरी और अग्निपथ योजना से जुड़े लेटेस्ट अपडेट के लिये इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Contents

अग्निपथ योजना क्या है?

केंद्र सरकार द्वारा 14 जून 2022 को देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ऐलान किया कि इस साल 46 हजार युवाओं को सहस्त्र बालों में शामिल किया जायेगा। इसके लिये युवाओं की भर्ती अग्नीपथ योजना 2022 के तहत किया जायेगा। इस योजना में शामिल हुये युवाओं की भर्ती 4 साल के लिये होगी। इसके लिये युवाओं की उम्र 17 से 23 वर्ष के होना चाहिये।

इस अग्निपथ योजना के तहत चयनित (Selected Candidate) लोगो को अग्निवीर (Agniveer) कहा जायेगा। अग्निवीर को सेना की तरफ से 6 महीने की ट्रेनिंग दी जायेगा। अग्निवीर युवाओं को नौकरी के दौरान Rs. 30,000 से Rs. 40,000 तक वेतन दिया जायेगा।

अग्निपथ योजना क्या है? और इसका फायदा
अग्निपथ योजना क्या है? और इसका फायदा

जैसा ऊपर बताया गया हैं, कि अग्निपथ योजना के तहत अग्निवीरो को केवल 4 सालों के लिये ही सेवा में रखा जायेगा। और 4 साल पूरा होने के पश्चात उन्हे Retire यानि  सेवा से निवृत कर दिये जायेंगे। Retirement के समय उन्हे लगभग 14 लाख रुपयों कि राशि प्रदान किया जायेगा। और उन्हे भविष्य में किसी भी प्रकार का पेंशन (Pension) दिया जायेगा।

इस स्कीम के तहत 25 प्रतिशत अग्निवीरो को सेना में परमानेंट भर्ती किया जायेगा। बाकी के 75% युवा चाहे तो अपना खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकते है या फिर केंद्र और राज्य सरकार के विभिन्न विभागों जैसे CISF, CAPFs , असम राइफल्स, State Police में आवेदन कर सकते हैं। चूंकि ये सेना से प्रशिक्षित होंगे इसलिये इन्हे इन पदों के लिये प्राथमिकता मिलेगा।

अग्निपथ योजना का उद्देश्य

अग्निपथ योजना का सबसे मुख्य उद्देश्य हमारे सैन्य बल को मजबूत करना हैं। राजनाथ सिंह जी ने PM Agnipath Yojna 2022 के दौरान घोषणा करते हुये यह भी कहा है, कि भारत की सुरक्षा को मजबूत करने के लिये यह अग्नीपथ योजना शुरू की गई हैं। जितने अधिक से अधिक अनुभवी हमारे देश की सेना में होंगे उतना ही हमारा देश सुरक्षित होगा।

अग्निपथ योजना का उद्देश्य और सुविधाएँ
अग्निपथ योजना का उद्देश्य और सुविधाएँ

साथ हि अग्निपथ योजना का उद्देश्य युवाओं में रोजगार के अवसर को बढ़ावा देना हैं। सेना में जब सभी अभी वीरों की भर्ती हो जायेगी तो उनमे से कई अग्नि वीरों को सेना में हमेशा के लिये रोजगार प्राप्त हो जायेगा।

जिन भी अग्नि वीरों को सेना से निकाला जायेगा उनके लिये भी सरकार ने कई अन्य विकल्पों को पेश किया है, हालांकि अभी सरकार ने इस पर पूरी जानकारी नही दिया गया हैं। रक्षा मंत्री द्वारा यह भी बताया गया है, की इस योजना का उद्देश्य सेना के तीनों अंगों के सेवाओं के पेंशन और वेतन खर्च को कम करना है, जो कि इस समय काफी तेजी से बढ़ा हुआ हैं।

Agniveer किसे कहा जायेगा?

अग्नीपथ योजना के तहत जो 17 से 23 वर्ष के युवक सेना में शामिल होंगे तो उन्हें अग्निवीर के नाम से जाना जायेगा। उसके बाद 4 साल बाद 75% रिटायरमेंट हुये अग्नि वीरों को स्किल्ड सर्टिफिकेट प्रदान किया जायेगा।

भारत सरकार ने बढ़ाई अग्नीपथ वीरो की आवेदन उम्र देश में चल रहे प्रदर्शन को मद्देनजर रखते हुये भारत सरकार ने अग्नीपथ वीरों के आवेदन उम्र को 3 साल बढ़ा दिया हैं। अग्नीपथ योजना की घोषणा करते समय अग्नि वीरों की उम्र को 17 से 21 वर्ष रखा गया था लेकिन अब इसे बढ़ाकर 17 से 23 कर दिया गया हैं।

अग्नीपथ योजना के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के बीच भारतीय नौसेना, वायु सेना और थल सेना ने बताया की वे जल्दी हि भर्ती प्रक्रिया शुरू करेंगे 24 जून से ये प्रक्रिया आरंभ कर दिया जाएंगे।

अग्निपथ योजना का लेटेस्ट अपडेट
अग्निपथ योजना का लेटेस्ट अपडेट

अग्निपथ योजना का वेतन

पहला साल

सेना में अग्निवीर (Agniveer) के तौर पर Join करने वाले 4 साल तक वेतन मिलेंगे। यह पैकेज का हिस्सा होगा और पहले साल मासिक तौर पर कस्टमाइज़्ड पैकेज मिलेगा। इसके अनुसार, पहले साल के हर मंथली 30,000 रुपये का वेतन होंगा, जिसमे से अग्निवीर को 21,000 रुपये कैश इन हैंड (cash in hand) मिलेंगे।

बाकि के बचे हुये 9 हजार रुपये अग्निवीर की तरफ से “अग्निवीर कॉर्पस फंड” में जायेगा। यह सैलरी का 30 फीसदी है और इतना ही 9,000 रुपये भारत सरकार द्वारा इसी फंड में डाला जायेगा।

दूसरा साल

दूसरे साल में मासिक सैलरी बढ़कर 33,000 रुपये हो जायेगा।इसमें 9,900 रुपये फंड में जाएंगे और सरकार भी इतने ही रुपयों का योगदान करेगी। अब कैश इन हैंड बढ़कर 23,100 रुपया हो जायेगा।

तीसरा साल

तीसरे साल में भी सैलरी बढ़ेगा। अब मंथली पैकेज 36,500 रुपये का हो जाएगा, जबकि कैश इन हैंड 25,580 रुपये मिलेंगे। अब अग्निवीर कॉर्पस फंड (Agniveer Corpus Fund) में हर मंथली 10,950 रुपये जमा करेंगे और उतना ही पैसा सरकार भी डालेंगे।

चौथा साल

4 साल में अग्निवीर कि Salary 40,000 रुपये बढ़ जायेंगे और साथ हि कैश इन हैंड 28,000 रुपये अग्निवीर के पास होंगा। जबकि फण्ड में अग्निवीर (Agniveer) कि तरफ से 12,000 रुपये दिया जायेगा ओर सरकार को भी इतना ही योगदान करेंगे।

4 साल पुरे होने के बाद अग्निवीर कॉर्पस फंड (Agniveer Corpus Fund) में एक अग्निवीर (Agniveer) 5.02 लाख रुपये जमा करेगा ओर इतना ही पैसा सरकार की तरफ से डालेंगे। इसे जोड़ दिया जाये तो उन्हें 11.71 लाख रुपये सेवानिधि के तौर पर मिलेंगे। इसमें वो ब्याज भी शामिल होगा, जो उस समय के दौरान लागू होता होगा।

अग्निपथ योजना का आर्थिक पैकेज
अग्निपथ योजना का आर्थिक पैकेज

सेवानिधि पैकेज का भुगतान होगा। रक्षा मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, इस पैकेज पर कोई टैक्स नही लेगा। अग्निवीर (Agniveer) 4 साल तक देश कि सेवा करेंगे और 4 साल पूरे हो जाने पर उनको गेच्युटी (Gechuty) और पेंशन (Pension) भी नही दिये मिलेंगे।

बीमा और विकलांगता मुआवजा

सेना में बतौर अग्निवीर सेवा देने वालों को 48 लाख का गैर अंशदायी बीमा कवर भी दिया जायेगा। इसके अलावा सैन्य सेवा के दौरान मृत्यु हो जाने पर 44 लाख रुपए का अतिरिक्त एक्स ग्रेशिया भी मिलेगा।

अग्निवीरों के लिये विकलांग मुआवजा भी रहे गए हैं, जो अग्निवीर विकलांगता के लेवल पर होंगे उनको भी मुआवजा प्रदान किया जायेगा। इसके तहत 75, 50 और 25 फीसदी विकलांगता के आधार पर क्रमश: 44, 25 और 15 लाख रुपये दिए जाने का प्रावधान किया गया हैं।

TOD योजना क्या हैं?

अग्नीपथ योजना TOD Scheme नाम दिया गया हैं। TOD का पूरा नाम Tour of Duty हैं। Tour of Duty Scheme का अर्थ है, अगर आप सेना में भर्ती हो और कुछ समय के लिये सेना के माध्यम से देश की सेवा करे।

कुछ समय के लिये देश कि सेवा करने के बाद वापस आ जाये। Tour का अर्थ ही है, किसी जगह पर थोड़े समय के लिए जाना और फिर वापस आ जाना। इसी तरह यह अग्निपथ योजना भी बनाई गई हैं।

अग्निपथ स्कीम की पात्रता

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिये।
  • आवेदक की आयु  17.5 से 23 वर्ष के बीच होना चाहिये।
  • अग्निवीर द्वारा 10वीं या 12वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिये।
  • आवेदक को सभी चिकित्सा मानदंडों को पूरा करना होंगा।

अग्निपथ स्कीम भर्ती प्रक्रिया क्या है?

अग्निपथ स्कीम भर्ती के लिये आर्मी के पुराने तरीके का ही पालन किया जायेगा। इसके लिये शारीरिक परीक्षण के साथ-साथ युवाओं को लिखित परीक्षा से भी गुजरना होंगा।

अग्निपथ पात्रता मानदंड के अनुसार यदि अग्निपथ भर्ती योजना के लिए आवेदन देने वाले युवाओं की उम्र सीमा पर गौर करें, तो इस योजना के लिए आवेदन देने वाले युवाओं की न्यूनतम आयु 17 साल और अधिकतम आयु 23 साल निर्धारित की गई हैं।

अग्निपथ भर्ती योजना के तहत युवाओं को ट्रेनिंग पीरियड समेत कुल 4 वर्षों के लिए स्शस्त्र सेवा बल में फुल टाइम काम करने का मौका मिलेंगे, जिसके लिये भर्ती सेना के तय नियमानुसार ही होंगा।

खास बात ये है कि इस योजना के तहत न सिर्फ पुरुष, बल्कि महिलाएं भी आवेदन कर सकता हैं। युवा इस योजना के माध्यम से सेना के तीनों प्रमुख अंग यानि कि थल सेना, वायु सेना और नौ सेना में प्रवेश कर सकेंगे।

अग्निपथ स्कीम के महत्वपूर्ण दस्तावेज

  1. आधार कार्ड
  2. निवास प्रमाण पत्र
  3. आय प्रमाण पत्र
  4. आयु का प्रमाण
  5. 10वीं या 12वीं कक्षा की मार्कशीट
  6. मेडिकल सर्टिफिकेट
  7. पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  8. मोबाइल नंबर
  9. ईमेल आईडी आदि

अग्निपथ स्कीम के पहले चरण में कितनी भर्तियां होंगे?

अग्निपथ योजाना के अंतर्गत रक्षा मंत्रालय जल्द ही भर्ती लेकर आ रहे हैं। जिसमे 90 दिनों के अंदर आर्मी में भर्ती के लिये पहली रिक्रूटमेंट (Recruitment) रैली तैयार हो जायेंगे। पहले चरण में आर्मी के लिये 90 दिनो में भर्ती के पहली रिक्रूटमेंट हो जायेंगे।

आर्मी (Army) : 40,000 पद

नेवी (Navy) : 3,000 पद

एयरफोर्स (Air Force) : 3, 500 पद

अग्निपथ स्कीम में महिलाओं के लिये अवसर

अग्निपथ स्कीम के ऐलान के साथ ही इंडियन नेवी के चीफ एडमिरल आर हरिकुमार ने कहा कि हम अग्निपथ स्कीम के साथ महिला सेलर को नहीं शामिल करेंगे।

नेवी चीफ ने कहा कि महिला अधिकारियों को पिछले करीब डेढ़ साल से ऑन बोर्ड (वॉरशिप) में तैनाती भी दी गई हैं।

हम जेंडर न्यूट्रल सर्विस है और अग्निपथ के तहत महिलाओं को भी मौका दिया जायेंगे। अग्निपथ स्कीम के तहत इंडियन नेवी में महिलाएं भी अग्निवीर बन सकेंगी।

अब तक इंडियन नेवी में महिलाएं सिर्फ ऑफिसर रैंक में होती थी और सेलर रैंक में सिर्फ पुरुष होते हैं।

अग्निपथ योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

अग्निपथ भर्ती योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म सभी भारतीय सेना की ऑफिशियल वेबसाइट पर उपलव्ध कराये जा रहे हैं। जिसके माध्यम से आवेदन कि प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

अग्निपथ योजना के भर्ती के लिए नोर्टीफिकेशन
अग्निपथ योजना के भर्ती के लिए नोर्टीफिकेशन

सबसे पहले आप जिस भी सेना भर्ती के लिये आवेदन करना चाहते है, तो उनकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सभी आर्म्ड फोर्सेस के वेबसाइट की लिंक पर क्लिक करे और नीचे दी गई प्रोसेस को फॉलो करे :-

भारतीय आर्मी में आवेदन के लिए Join Indian Army : https://indianarmy.nic.in/home
भारतीय वायुसेना में आवेदन के लिए Join IAF : https://indianairforce.nic.in/agniveer/
भारतीय नौसेना में आवेदन के लिए Join Indian Navy : https://www.joinindiannavy.gov.in/

Step 01 : ऊपर दिए हुए संस्थान में से जिस पर आप आवेदन करना चाहते है उसके वेबसइट खोल लें। अब इस स्कीम के विज्ञापन पर क्लिक करे।

Step 02 : इसके बाद आर्म्ड फोर्सेस के वेबसाइट में जाकर Registration करे।

Step 03 : यहां पर आपके सामने एक फॉर्म आ जायेंगे।

Step 04 : फॉर्म में मांगे गए सभी जानकारियां भरे और फॉर्म को सबमिट करे।

Step 05 : इसके बाद माँगे गये अन्य दस्तावेज जमा करे।

Step 06 : तो इस तरह आप Agneepath Scheme के लिये आवेदन कर सकते हैं।

सैलरी के अलावा मिलने वाले भत्‍ते

भत्ते में रिस्‍क एंड हार्डशिप, राशन, ड्रेस और ट्रैवल एलाउंस शामिल होंगे। ‘अग्निवीर’ ग्रेच्युटी और पेंशन संबंधी लाभों के हकदार नहीं होंगे।

‘अग्निवीरों’ को भारतीय सशस्त्र बलों में उनकी अवधि के लिए 48 लाख रुपये का जीवन बीमा कवर प्रदान किया जाएगा।

शहीद या हादसे का शिकार होने पर क्या होगा?

अगर सेवा के दौरान कोई जवान शहीद हो जाता है, तो उनके परिवार को पूरा इंश्योरेंस कवर मिलेगा। परिवार को सेवा निधि समेत लगभग एक करोड़ रुपये दिये जायेंगे। बची हुई सेवा की पूरी सैलरी भी परिवार को मिलेंगे।

सेवा के दौरान अगर जवान दिव्यांग हो जाता है तो दिव्यांगता के प्रतिशत के हिसाब से भी मुआवज़ा दिया जायेगा। और इसके साथ ही बची हुई सेवाकाल की पूरी सैलरी भी जवान को प्रदान किया जायेंगे।

अग्निवीरों का चार साल बाद क्या होगा?

चार साल बाद लभग 75 फीसदी सैनिकों को ड्यूटी से मुक्त कर दिया जायेंगे और उन्हें आगे के रोज़गार के अवसरों में सहायता मिलेगा।

सेना केवल 25 फीसदी अग्निवीरों को चार साल बाद रिटेन करेंगे जो पूर्ण तरह निपुण और सक्षम होंगे। हालांकि यहां तभी संभव होगा जब उस समय सेना की भर्तियां निकली हों।

अग्निपथ स्कीम की विशेषतायें

  • अग्निवीर के रूप में चार वर्ष तक राष्ट्रसेवा करने का अवसर।
  • सभी सैनिकों में / नेवी / आर्मी / एयरफोर्स की नियुक्ति अग्निपथ योजाना के माध्यम से।
  • सम्पूर्ण भारत में मेधा आधारित नियुक्ति प्रक्रिया।
  • आकषर्क मासिक वेतन व भव्य सेवा निधि पैकेज।
  • नियमित कैडर में नियुक्ति हेतु आवेदन का 100% अवसर।
  • मेधा व सांगठनिक आवश्यकता के आधार पर चार वर्ष बाद “केंद्रीय परदर्शी एवं त्रमसाध्य प्रणाली” के माध्यम से 25% अग्निवीरों का चयन।
अग्निपथ स्कीम की विशेषतायें
अग्निपथ स्कीम की विशेषतायें

अग्निपथ योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

  1. अग्निवीरो को 1 वर्ष में 30 Annual leave एवं Medical Advice के अनुसार Sick leave दिये जायेंगे।
  2. इसके अलावा Service Hospital के माध्यम से अग्निवीरो को Medical Facility भी दिये जायेंगे।
  3. अग्निवीर को Engagement Period को पूरा होने से पहले Release करने कि अनुमति नही दिये जायेंगे।
  4. यह अनुमति कुछ Exceptional Cases में हि Competent Authority के Approval से ही दिये जायेंगे।
  5. इस स्थिति में सेवा निधि की राशि में भी केवल अग्निवीर द्वारा किया गया Contribution से ही दिये जायेंगे। जिसमे Accrued Interest शामिल किये जायेंगे।
  6. सरकार द्वारा अग्निवीर Corpus Fund Create किये जायेंगे।
  7. जिसमे अग्निवीर एवं सरकार द्वारा Contribution करेंगे।
  8. यह राशि अग्निवीर को 4 साल की अवधि पूर्ण होने के पश्चात ही दिये जायेंगे।
  9. अग्निवीर को किसी भी सरकारी PF में कंट्रीब्यूट करने की आवश्यकता नही हैं।
  10. इसके आवला अग्निवीर को किसी भी प्रकार की Gratuity या Pensionary Benefit नही दिये जायेंगे।
अग्निपथ योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां
अग्निपथ योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

अग्निपथ योजना के फायदे

  • सेना में 4 साल के Disciplined और Skilled जीवन जीने के बाद 24 साल की उम्र का व्यक्ति अन्य की तुलना में नौकरी पाने के लिये हमेशा एक बेहतर विकल्प होगा।
  • 4 साल बाद ग्रह मंत्रालय ने योग्य अग्निवीरों को CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता देंगे।
  • कितने लोगो के पास 21 से 24 साल के बिच  12 लाख कि जमा पूंजी होते है। लेकिन अग्निवीरो के पास जमा पूंजी होंगे।
  • 4 साल बाद आप  जैसे स्किल्ड और डिसिप्लिन अग्निवीर को कई बड़ी कंपनियाँ ने अपने कंपनी में जॉब देने का वदा किया हैं।
  • 4 साल में अग्निवीरों के लिये शुरू होंगा ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स, देश और विदेश में मान्यता मिलेंगे।
  • 21 से 24 साल कि आयु में लगभग 20 लाख की राशि जोड़ सकेंगे जैसे 4 साल में 7-8 लाख कि सेविंग्स होंगा और 12 लाख केंद्र सरकार देंगे।
  • 4 साल बाद कई राज्य सरका जैसे उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा और असम ने अग्निवीरो को सेवा के उपरान्त पुलिस व पुलिस के सहयोगी बलों में समायोजित करने में प्राथमिकता देने की बात कही हैं।
अग्निपथ योजना के फायदे
अग्निपथ योजना के फायदे

Conclusion

हम उम्मीद करते है, कि आपको अग्निपथ  2022 के बारे सभी जानकारियां मिल चुके होंगे जैसे कि अग्निपथ योजना क्या हैं? अग्निपथ योजना का उद्देश्य क्या हैं?, अग्निपथ योजना का वेतन कितना होना चाहिए?, और अग्निवीर किसे कहा जाता है? आदि।

आगे आपको इस ब्लॉग से कुछ अच्छी जानकारी मिले है, तो आपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले और ऐसे ही ब्लॉग पढ़ने के लिये हमारे साथ जुड़े रहिये।

Leave a Comment