PageMaker क्या है? पेजमेकर के इंटरफेस के बारें में विस्तार से जानिए?

0
(0)

Know PageMaker in Detail in Hindi?

Pagemaker Interface in Hindi
Pagemaker Interface in Hindi

एडोब पेजमेकर एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जिसका उपयोग ब्रोशर, फ़्लायर्स, न्यूज़लेटर्स, रिपोर्ट और कई अन्य व्यावसायिक-गुणवत्ता के दस्तावेज़ बनाने के लिए किया जाता है जो व्यवसाय या शैक्षिक उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं।

Adobe PageMaker सबसे पहले 1985 में Apple Macintosh पर Aldus द्वारा पेश किया गया डेस्कटॉप कंप्यूटर प्रोग्राम है। बाद में इसे एडोब कॉरपोरेश ने ग्रहण किया इसके बाद इसके कई वर्जन बाजार में जारी किये गए। 

Adobe PageMaker एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जिसका उपयोग ब्रोशर, फ़्लायर्स, न्यूज़लेटर्स, रिपोर्ट और कई अन्य व्यावसायिक-गुणवत्ता के दस्तावेज़ बनाने के लिए किया जाता है जो व्यवसाय या शैक्षिक उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं।

प्रोग्राम उपयोगकर्ताओं को दस्तावेज़ों को फॉर्मेट करना, उनके लेआउट को समायोजित करना और विभिन्न डिज़ाइन विवरणों को बदलना आसान बनाता है, जैसे कि ग्राफिक्स और फोंट, दस्तावेज़ को प्रिंट करने और वितरित करने से पहले।

एडोब पेजमेकर 7.0 डेस्कटॉप प्रकाशन एप्लिकेशन का अंतिम संस्करण है। हालाँकि यह अभी भी Adobe द्वारा बेचा और समर्थित है। एडोब पेजमेकर 7.0 मूल रूप से 2002 में जारी किया गया था, यह छोटे व्यवसायों और पेशेवरों के लिए डिज़ाइन किया गया था।

यह प्रिंट के लिए चीजों को डिजाइन करने और पोस्टरों से लेकर रिपोर्टों तक के लिए बनाया गया है एडोब के अधिकांश आउटपुट की तरह यह एक सुविधा संपन्न कार्यक्रम है।

एडोब पेजमेकर Macintosh और Windows दोनों कंप्यूटरों पर चलता है, और यह अनुशंसा की जाती है कि प्रोग्राम को चलाने के लिए उपयोग किए जा रहे कंप्यूटर सिस्टम में कम से कम 200 मेगाबाइट हार्ड डिस्क स्थान उपलब्ध हो।

पेजमेकर एडोब फोटोशॉप, एडोब इलस्ट्रेटर और एडोब एक्रोबैट सहित अन्य एडोब कार्यक्रमों के साथ मिलकर काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

पेज मेकर किसने बनाया था?

एल्‍डस पेजमेकर 5.0 जनवरी 1993 में जारी किया गया था। एल्‍डस सिस्‍टम्‍स द्वारा एल्‍डस कॉर्पोरेशन का अधिग्रहण करने के एक साल बाद 1995 में एडोब पेजमेकर 6.0 जारी किया गया था।

पेजमेकर क्या है? 

एडोब पेजमेकर एक एप्लिकेशन  सॉफ्टवेयर है जो व्यक्तियों और समूहों को प्रकाशन बनाने और संपादित करने में सक्षम बनाता है. इसकी सहायता से हम विभिन्न प्रकार के किताब के डिजाईन,शादी कार्ड, ब्रोसर, पोस्टर इत्यादि को डिजाईन किया जाता है

एडोब पेजमेकर 7.0 में उपयोगकर्ता अन्य स्रोतों, जैसे स्प्रैडशीट और डेटाबेस से डेटा, paint तथा अन्य प्रोग्राम से  import कर सकते हैं

यह सुविधा मेल मर्ज के लिए सहायक है. Portable File Format(PDF) फाइलों के साथ काम करने की क्षमता उन उपयोगकर्ताओं के लिए भी संभावनाएं पैदा करती है, जिन्हें इलेक्ट्रॉनिक प्रकाशन करने की आवश्यकता होती है

उदाहरण के लिए, एक व्यवसाय अपनी वेबसाइट पर एक प्रपत्र प्रकाशित कर सकता है जिसे किसी भी इंटरनेट उपयोगकर्ता द्वारा उच्च गुणवत्ता में मुद्रित किया जा सकता है।

एडोब पेजमेकर शक्तिशाली और बहुमुखी पेज लेआउट सॉफ्टवेयर है। पेशेवर अपने असाधारण टाइपोग्राफिक नियंत्रणों के लिए पेजमेकर का उपयोग करते हैं, परतों, फ़्रेमों और कई मास्टर पेजों और कई कस्टमाइज़िंग विकल्पों सहित पेज डिज़ाइन क्षमताओं को सटीक करते हैं

पेजमेकर की व्यापक import और linking क्षमताएं आपको सबसे लोकप्रिय programs से document, ग्राफिक्स, स्प्रेडशीट, चार्ट और मूवी फ़्रेम शामिल करने देती हैं

इसमें मेनू प्लग-इन भी शामिल है जो program की विशेषताओं और क्षमताओं का विस्तार करता है

यह text तथा ग्राफिक्स के लिए Advance Colour Printing Technique, Colour Management, Automatic Trapping, Built-in Imposition Tools और सम्पूर्ण separation capabilities की क्षमताएं शामिल हैं

पेजमेकर के वर्जन्‍स

  1. पेजमेकर के अब तक कई सारे वर्जन मार्केट में आ चुके है जिनके बारे में हम विस्तार से जानेगे।
  2. एल्‍डस पेजमेकर 1.0 को जुलाई 1985 में मैकिन्‍टोश के लिए और दिंसबर 1986 में आईबीएम पीसी के लिए जारी किया गया था।
  3. मैकिन्‍टोश के लिए एल्‍डस पेजमेकर 1.2 को 1986 में जारी किया गया था।
  4. मैकिन्‍टोश के लिए एल्‍डस पेजमेकर 4.0 को 1990 में जारी किया गया था और लंबे दस्‍तावेजों को संभालने के लिए एनईवर्ड प्रोसेसिंग क्षमताओं, विस्‍तारित टाइपोग्राफिक नियंत्रण और उन्‍नत सुविधाओं की पेशकश की गई थी।
  5. एल्‍डस पेजमेकर 5.0 जनवरी 1993 में जारी किया गया था।
  6. एल्‍डस सिस्‍टम्‍स द्वारा एल्‍डस कॉर्पोरेशन का अधिग्रहण करने के एक साल बाद 1995 में एडोब पेजमेकर 6.0 जारी किया गया था।
  7. एडोब पेजमेकर 6.5 1996 में जारी किया गया था। एल्‍डस पेजमेकर 2.0 को 1987 में जारी किया गया था। मई 1987 तक, विंडोज 1.0.3 के पूर्ण संस्‍करण के साथ प्रारंभिक विंडोज रिलीज को बंडल किया गया था ; यह संस्‍करण MS डोस को भी सपोर्ट करता था।
  8. अप्रैल 1988 में मैकिंटोश के लिए एल्‍डस पेजमेकर 3.0 को भेज दिया गया था।
  9. एडोब पेजमेकर 7.0, 9 जुलाई 2001 को जारी किया गया था, हालांकि दो समर्थित प्‍लेटफॉर्मों के लिए अपडेट जारी किए गए हैं। Macintosh संस्‍करण केवल Mac OS 9 या पूर्व में चलता हैं ,मैक ओएसएक्‍स, के लिए कोई मूल समर्थन नहीं हैं।

पेज मेकर को कैसे डाउनलोड करे?

यदि आप भी पेजमेकर डाउनलोड करना चाहते है तो नीचे दी गई स्टेप्स को Follow करे:-
  1. डाउनलोड पेजमेकर (Download Pagemaker)-सबसे पहले गूगल से सर्च करके आप Adobe Page Maker को डाउनलोड करे।
  2. इनस्टॉल पेजमेकर (Install Pagemaker)-डाउनलोड करके अब इसे इंस्टाल कर ले।
  3. ओपन पेजमेकर (Open Pagemaker)-अब आप इसे ओपन करके इसका इस्तेमाल कर सकते है।

पेजमेकर कैसे open करे?

Start > All Programs > Adobe > Adobe PageMaker 7.0
या
Run open कर PM70 type कर OK पर क्लिक करे

पेजमेकर की विशेषताये

  1. इसमें टेम्पलेट को ऐड किया गया है। जिसके द्वारा विभिन्न प्रकार के पेजों की डिज़ाइन पहले से ही निर्धारित होती है। और आप उनका उपयोग करके अपने काम को जल्दी कर सकते है।
  2. इस एडिशन में पहली बार टूलबार को जोड़ा गया। जिसके द्वारा काम करने की स्पीड में वृद्धि हुई है। इस टूलबार की मदद से आप फाइल को प्रिंट, सेव, फॉर्मेटिंग, स्पेलिंग चेक एक ही क्लिक से कर सकते है।
  3. इसमें कलर मैनेजमेंट का प्रयोग भी किया गया है। इसके द्वारा आप डॉक्यूमेंट में रंगों का निर्धारण अपनी पसंद के अनुसार कर सकते है।
  4. क्लिप आर्ट के प्रयोग से आप चित्र और आइकॉन का उपयोग पब्लिशिंग में आसानी से कर सकते है।
  5. आधुनिक तथा एडवांस प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी के माध्यम से आप दोनों तरफ प्रिंटिंग, डुप्लेक्स प्रिंटिंग, बाइंडिंग प्रिंटिंग आदि आसानी से कर सकते है।
  6. फ़ोटोशॉप के द्वारा फ़ोटो को डायरेक्टली इम्पोर्ट करके उपयोग में ले सकते है।

पेजमेकर विंडो के विभिन्न घटक

PageMaker Window में एक डॉक्यूमेंट को create तथा edit करने की सुविधा के लिए विभिन्न elements प्रदान किये गए है।

इन elements के उद्देश्य को सिखने से PageMaker में काम करना बहुत आसान हो जाता है। निम्न elements के बारे में जानना जरुरी है जिनका आप उपयोग करने की संभावना रखते है।

Title Bar:- यह PageMaker Window के सबसे उपरी पट्टी होता है जो आपके document का नाम प्रदर्शित करता है. यदि आप एक नए document के साथ काम कर रहे हैं और इसे अभी तक Save नहीं किया है, तो Title Bar पर Untitled-1 प्रदर्शित करता है।

Rulers:- PageMaker दो अनुकूलन Rulers प्रदान करता है, जो आपकी स्क्रीन के साथ क्षैतिज (Horizontally) और लंबवत (Vertically) रूप से चलते हैं। आप Rulers को inches या picas में मापने के लिए सेट कर सकते हैं।

Pasteboard:- यह वह पृष्ठ है जो आपके पेजमेकर document के पीछे है. यदि आप text या images को पृष्ठों के बीच ले जाना चाहते हैं, तो इसका उपयोग करना एक आसान elements है।

आप इन items को तब तक Pasteboard पर रख सकते हैं जब तक आप यह तय नहीं कर लेते हैं कि उन्हें पृष्ठ पर कहां रखा जाए। Pasteboard पर आपके द्वारा डाला गया कोई भी text या images प्रिंट नहीं होंगे।

Page Icons:- आपकी स्क्रीन के निचले बाएँ कोने पर गिने हुए Page Icons प्रत्येक उस document के पृष्ठों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जिस पर आप काम कर रहे हैं। आपके द्वारा देखे जा रहे विशेष पृष्ठ का आइकन हाइलाइट किया जाएगा।

पेजमेकर के फॉर्मेटिंग फ़ीचर्स  

आगे हम पेजमेकर के User Interface के बारे में जानेंगे। पेजमेकर को खोलने पर आपके सामने यह स्क्रीन आती है:-

Toolbox:- यह PageMaker में काम करते समय प्रयोग में लाये जाने वाले औजारों (Tools) का एक Box होता है, यहाँ पर आपको पब्लिकेशन बनाने के लिए 14 प्रकार के टूल्स मिलते है।

पेजमेकर में जो फाइल बनाई जाती है उसे पब्लिकेशन कहा जाता है। इसे आप अपनी सुविधानुसार कहीं भी मूव कर सकते है।

पेजमेकर में जब कोई नया पब्लिकेशन बनाया जाता है या पहले बनाये गये पब्लिकेशन को खोला जाता है तभी टूल बॉक्स में जो Icons होते है वो दिखाई देने लगते है।

अगर किसी वजह से टूल बॉक्स दिखाई ना दे तो विंडो मेनू को ओपन करके Show Tools पर क्लिक करके पेजमेकर में पब्लिकेशन के टेक्स्ट तथा ग्राफ़िक्स की एडिटिंग की जा सकती है।


Standard Tool Bar:-
पेजमेकर के मेनू बार के नीचे स्टैंडर्ड टूल बार होती है। इसमें प्रयोग किये जाने वाली कमांड जैसे न्यू, ओपन, सेव, प्रिंट, फाइंड आदि आइकॉन के रूप में दिए होते है।

जिन्हें आप पब्लिकेशन में काम करते समय प्रयोग में ला सकते है।


Ruler guides:-
पेज की लम्बाई-चौड़ाई बताने के लिए रूलर गाइड्स का प्रयोग होता है। जरुरत होने पर इसे भी मूव किया जा सकता है। रूलर गाइड्स पब्लिकेशन के लेफ्ट और टॉप में होती है।


Control palette:-
इसमें फ़ॉन्ट, फ़ॉन्ट साइज़, बोल्ड, इटैलिक, अंडर लाइन, लाइन स्पेसिंग, आदि ऑप्शन दिए गए होते है।

जो पब्लिकेशन पर काम करते समय किसी प्रकार की एडिटिंग करने में प्रयोग किये जाते है।


Page border:-
इससे आप पेज की बार्डर सिलेक्ट कर सकते है। आपको कितनी बार्डर रखनी है अगर आपने कुछ टाइप किया है और वह पेज की बार्डर से बाहर चला जाता है तो वह प्रिंट निकालते समय प्रिंट नहीं होता है।


Margin guides:-
पेज के अंदर टाइपिंग की जगह को निर्धारित करने के लिए इस ऑप्शन का प्रयोग किया जाता है। पेज पर यह नीले रंग की एक पतली रेखा के रूप में दिखाई देती है।

पेजमेकर के फ़ायदे 

Professional quality:- डेस्कटॉप प्रकाशन कार्यक्रम औसत उपयोगकर्ताओं के लिए अपनी व्यक्तिगत या व्यावसायिक आवश्यकताओं के लिए पेशेवर-गुणवत्ता वाले प्रकाशन बनाना आसान बनाते हैं।

उदाहरण के लिए, एक छोटा व्यवसाय स्वामी एक टेम्पलेट का उपयोग करके Adobe PageMaker में एक समाचार पत्र बनाना चाहता है। यह दृष्टिकोण छोटे व्यवसाय के मालिक को ब्रोशर का उत्पादन करने के लिए बाहरी फर्म को काम पर रखने की लागत बचाता है।

एडोब पेजमेकर 7 उपयोगकर्ताओं के लिए सैकड़ों टेम्पलेट प्रदान करता है, जिसमें एक पेज के यात्री और फैंसी रिपोर्ट शामिल हैं। जब उपयोगकर्ता कोई टेम्पलेट खोलता है, तो पूर्व निर्धारित पृष्ठ तत्व, जिसमें मार्जिन, बॉर्डर, टेक्स्ट बॉक्स और चित्रण बॉक्स पहले से ही शामिल हैं।

लघु व्यवसाय स्वामी बड़े पैमाने पर मेलिंग बनाने के लिए डेटाबेस या स्प्रेडशीट की जानकारी के साथ डेटा-मर्ज सुविधा के साथ एक फ़्लायर टेम्पलेट का उपयोग कर सकता है।

प्रत्येक फ़्लायर पर छपी ग्राहक जानकारी के साथ, छोटा व्यवसाय स्वामी मार्केटिंग फर्म को आउटसोर्सिंग के बिना एक पेशेवर-गुणवत्ता वाला टुकड़ा भेजता है।


Quick layout:-
लेआउट दृश्य में, उपयोगकर्ता प्रिंट प्रकाशन दस्तावेज़ में पाठ और ग्राफिक्स इनपुट कर सकता है। उदाहरण के लिए, एक समाचार पत्र निर्माता विज्ञापनदाताओं से लोगो और तस्वीरें इनपुट कर सकता है।

पेजमेकर डॉक्यूमेंट में प्रीफॉर्मेटेड बॉक्स का उपयोग करके ग्राफिक्स को प्रिंट डॉक्यूमेंट में पेस्ट करना आसान है। उपयोगकर्ता जल्दी से एक धारावाहिक प्रकाशन के नवीनतम संस्करण को भी प्रस्तुत कर सकता है।

कई पृष्ठों वाले न्यूज़लेटर के लिए, उपयोगकर्ता एक मास्टर पृष्ठ बनाता है और फिर दस्तावेज़ में बाद के पृष्ठों के लिए मास्टर पृष्ठ की प्रतिलिपि बनाता है।

विभिन्न पृष्ठ शैलियों वाले दस्तावेज़ों के लिए, कई मास्टर पृष्ठ बनाए जा सकते हैं। कई संस्करणों के साथ एक प्रकाशन के लिए, लेयरिंग तकनीक प्रकाशन के प्रत्येक मुद्दे के लिए एक नई परत बनाने में सक्षम बनाती है।


Compatibility:-
एडोब पेजमेकर अन्य एडोब उत्पादों के साथ और मुद्रण उपकरणों के साथ संगतता प्रदान करता है।

उदाहरण के लिए, एडोब इलस्ट्रेटर या फ़ोटोशॉप में ग्राफिक्स बनाने के बाद, उपयोगकर्ता प्रकाशन में इन संगत छवियों को सम्मिलित कर सकते हैं।


Pagemaker professional:-
गुणवत्ता वाले रंग विकल्प और रंग प्रबंधन भी प्रदान करता है। उपयोगकर्ता मुद्रण कार्य के आधार पर प्रिंट करने के लिए रंग और टोनर की मात्रा का उपयोग कर सकते हैं।

दस्तावेज़ आधुनिक प्रिंटिंग प्रिंटर जैसे डिजिटल क्विक-प्रिंटर और हैवी-ड्यूटी वाणिज्यिक प्रिंटर पर भी प्रिंट होंगे।

इसका मतलब है कि यदि आवश्यक हो तो छोटे व्यवसाय के मालिक समाचार मुद्रण को बड़े पैमाने पर मुद्रण के लिए मुद्रण सेवा में ले जा सकते हैं।


Wrapping:-
पेजमेकर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और प्रकाशक जैसे कार्यक्रमों में भी एक रैपिंग फीचर प्रदान करता है। जब उपयोगकर्ता ग्राफिक्स के लिए बॉक्स बनाता है, तो दस्तावेज़ में पाठ उनके चारों ओर लपेट सकता है।

जब उपयोगकर्ता छोटे टेक्स्ट बॉक्स बनाता है, तो रैपिंग फीचर टेक्स्ट के मुख्य बॉडी को टेक्स्ट बॉक्स में टेक्स्ट के चारों ओर लपेटने में सक्षम बनाता है।

पेज मेकर के नुकसान 

मायटेकटाइम के अनुसार, एडोब पेजमेकर के नुकसान हैं:-

  1. केवल एक पूर्ववत आदेश संभव है।
  2. कोई स्प्रेडशीट समर्थन नहीं।
  3. एडोब पीडीएफ का आयात केवल एक ग्राफिक के रूप में संभव है।
  4. वर्तनी-परीक्षक केवल पाठ मोड विंडो में काम करता है।
  5. खराब HTML स्रोत कोड का निर्माण।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment