वेब होस्टिंग क्या है? इसके प्रकार और कैसे काम करता है? सबकुछ जानिए

वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग कैसे काम करता है? अच्छा होस्टिंग का चयन किस आधार पर करना चाहिए? भारत में सबसे सस्ता होस्टिंग कहा मिलता है? जानिए वेब होस्टिंग के बारे में सबकुछ हिंदी में.

आज के इस आर्टिकल में हम आपको Web Hosting क्या हैं? के विषय में जानकारी देने वाले हैं। अगर आप ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर ऑनलाइन पैसा कमाने के बारे में विचार कर रहे हैं, तो आपको होस्टिंग के विषय में सम्पूर्ण जानकारी होना चाहिये। जो, कि हम आपको इस आर्टिकल में देने वाले हैं।

एक नया ब्लॉगर जब अपना ब्लॉग बनाने के लिये होस्टिंग खरीदता हैं, तो वह सहीं जानकरी की कमीं के कारण ऎसी होस्टिंग खरीद लेता हैं। जिसके चलते उसे बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं।

वेब होस्टिंग क्या है? इसके प्रकार और कैसे काम करता है?
वेब होस्टिंग क्या है? इसके प्रकार और कैसे काम करता है?

इसी बात को ध्यान में रखकर हमने आपको वेब होस्टिंग लेने से पहले ध्यान रखने वाली बातो को भी इस आर्टिकल में बताया गया हैं। इस आर्टिकल में आपको जानने को मिलेगा कि वेब होस्टिंग क्या हैं, होस्टिंग कितने प्रकार की होती है और वेब होस्टिंग कहाँ से खरीदे?

हमें पूरी उम्मीद हैं, कि अगर आप इस लेख को ध्यानपूर्वक अन्त तक पढेंगे तो आपको होस्टिंग के बारे में जानने के लिये किसी अन्य आर्टिकल पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगा।

तो चलिये बिना देर के शुरू करते हैं, हमारा आज का ये आर्टिकल – Web Hosting क्या हैं? Web Hosting क्यों खरीदना चाहिये।

Web Hosting क्या है?

होस्टिंग एक ऑनलाइन स्पेस (जगह) होता हैं, जो वेबसाइट के कंटेंट को स्टोर करता हैं तथा वेबसाइट को ऑनलाइन रखता हैं। इंटरनेट पर जितनी भी वेबसाइट मौजूद होता हैं।

उन सभी का डेटा किसी न किसी सर्वर में स्टोर रहता हैं। जिसके द्वारा यूजर उन वेबसाइट को एक्सेस कर पाता हैं। इसी सर्वर को हि होस्टिंग कहा जाता हैं। जिस प्रकार से आपके कम्प्यूटर में मौजूद फाइल, फोटो , डॉक्यूमेंट, इमेज आदि आपके हार्ड डिस्क में स्टोर रहते हैं।

ठीक उसी प्रकार से वेबसाइट में मौजूद जैसें टेक्स्ट, इमेज, विडियो, फाइल आदि होस्टिंग में ही स्टोर रहते हैं। बिना होस्टिंग के आप वेबसाइट नहीं बना सकते हैं। एक होस्टिंग को सम्भालना बहुत जटिल और खर्चीला हैं। इसलिये हम होस्टिंग को इन्टरनेट पर उपलब्ध होस्टिंग Provider कंपनियों से खरीदते हैं।

उनके पास Powerful सर्वर, Technical Staff और होस्टिंग को मेन्टेन करने के लिये अनेक सारे Resource रहते हैं। कुल मिलाकर कहे तो होस्टिंग एक Server है, जो आपके वेबसाइट के कंटेंट को स्टोर करता है और वेबसाइट को 24*7 Live रखता हैं।

उदहारण के लिये YouTube को ही देख लीजिये, आप दिनभर में किसी भी समय YouTube को खोलकर देख सकते है, यह हमेशा से ही live रहता हैं। इसका अर्थ हैं, की आपके Mobile के पीछें भी एक ऎसा Institute है, जो आपके लिये Contents को हमेशा लाइव रखता हैं। और इस Institute को ही Web Hosting के नाम से जाना जाता हैं।

Web Hosting का शाब्दिक अर्थ क्या है?

यदि हम Web Hosting के शाब्दिक अर्थ पर जाये तो Web का अर्थ होता हैं Internet कि दुनियां और Hosting का अर्थ होता हैं मेहमान नवाज़ी करना।

कुल मिलाकर इसका अर्थ हुआ कि इंटनरेट की दुनिया में मौजूद Content की मेहमान नवाज़ी करना। इसका मतलब Web Hosting ही वह वस्तु है, जो आपके Content को सदैव live रखता हैं।

सदैव live रखने का अर्थ होता है, जब आप सो रहे हो तब भी यह आपके Content को किसी दूसरों के लिये निरंतर प्रदर्शित करेगा। यही नही जब आप Backend पर कुछ काम कर रहे हो तब भी यह दूसरो के लिये आपके Content को वैसा ही बनाये रखेगा। तो आपको होस्टिंग मीनिंग समझ आ गया होगा।

Web Hosting के प्रकार

Web Hosting मुख्य रूप से 6 प्रकार का होता है, जोकि निम्नलिखित हैं :-  

  1. Shared Web Hosting
  2. Dedicated Web Hosting
  3. VPS Hosting
  4. Cloud Hosting
  5. Reseller Hosting
  6. Managed WordPress Hosting

1. शेयर्ड वेब होस्टिंग: Shared Web Hosting

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट हैं, कि इस प्रकार कि होस्टिंग को अनेक वेबसाइट के साथ शेयर किया जाता हैं। Shared Web Hosting में एक ही सर्वर में हजारों वेबसाइट होस्ट रहता हैं। आप शेयर्ड वेब होस्टिंग को होस्टल या किराये पर लिये गये एक कमरे की तरह की तरह मान सकते है, जिसमें अनेक सारे दोस्त साथ रहते हैं।

Shared Web Hosting शुरुआती ब्लॉगर के लिये बेस्ट है, क्योंकि एक नए ब्लॉग पर ट्रैफिक भी अधिक नही होता है, और इसका दूसरा सबसे बड़ा फायदा हैं, कि इसकी कीमत अन्य होस्टिंग की तुलना में कम होता हैं। शेयर्ड होस्टिंग को मैनेज करना भी बहुत आसान होता है, क्योंकि इसका CPanel बहुत ही बेसिक होता हैं।

Shared Hosting के फायदे होने के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी होते हैं। जैसे कि शेयर्ड वेब होस्टिंग की स्पीड ऊपर-नीचे होता रहता हैं। और सिक्योरिटी के मामले में भी यह होस्टिंग उतना बेहतर नही है, लेकिन अगर आप नये ब्लॉगर हैं, तो बेझिझक इस होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. समर्पित वेब होस्टिंग: Dedicated Web Hosting

Dedicated Web Hosting बिल्कुल विपरीत होता हैं Shared Hosting के वह इस प्रकार की होस्टिंग में पूरा सर्वर एक ही वेबसाइट को दिया जाता हैं। आप Dedicated Web Hosting को आपने घर की तरह समझ सकते हैं, जहाँ केवल आप और आपका परिवार रहता हैं।

Dedicated Hosting बहुत फ़ास्ट वेब होस्टिंग होता हैं। यह होस्टिंग ऎसी वेबसाइट के लिये उप-युक्त होता हैं। जिसमें मिलियन में ट्रैफिक आता हैं। जैसें कि Amazon, Flipkart आदि वेबसाइट यह होस्टिंग बहुत सिक्योर होता हैं।

Dedicated Hosting का नुकसान ये हैं, कि इसको इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति को टेक्निकल नॉलेज कि ज़रूरत पड़ता है और ये वेब होस्टिंग अन्य होस्टिंग की तुलना में बहुत महंगा भी होता हैं।

3. वर्चुअल प्राइवेट सर्वर (VPS): VPS Hosting

VPS होस्टिंग ऐसी होस्टिंग होता हैं, जिसमें एक सर्वर के अलग-अलग भाग कर दिये जाते हैं। और प्रत्येक वेबसाइट के लिये एक निश्चित भाग प्रदान किया जाता हैं।

आप इसे एक होटल के एक कमरे की तरह समझ सकते हैं। जब तक आप होटल में रहेंगे तो उस कमरे की सारी चीजें होता हैं, लेकिन आप होटल के मालिक़ नहीं हैं। ठीक इसी प्रकार से VPS होस्टिंग भी होता हैं। इसमें पूरा सर्वर आपका नहीं होता हैं, लेकिन सर्वर का एक फिक्स भाग आपके पास जरूर रहता हैं।

अगर आपकी अपनी वेबसाइट से अच्छी कमाई कर रहे हैं, तो VPS होस्टिंग का उपयोग कर सकते है। यह होस्टिंग Dedicated Hosting कि तुलना में सस्ती होती है साथ ही इसकी Performance, Security, Speed आदि Shared Hosting की तुलना में बेहतर होते है और आप जरुरत के अनुसार VPS होस्टिंग की स्पेस को बढ़ा सकते हैं।

VPS होस्टिंग में केवल कमी यह है कि इसकी कीमत Shared Hosting से अधिक है और इसे मैनेज करने के लिये आपको Technical Knowledge की जरूरत होती हैं।

4. क्लाउड होस्टिंग: Cloud Hosting

Cloud Hosting एक Advance और नये जमाने कि होस्टिंग है। क्लाउड होस्टिंग Multiple Server के साथ काम करता है। इस प्रकार के सर्वर में आपका डेटा एक सर्वर में स्टोर न होकर क्लाउड के रूप में भिन्न-भिन्न सर्वर में स्टोर रहता है। पिछले कुछ सालों से क्लाउड होस्टिंग का प्रचलन बहुत अधिक बढ़ा है। अधिकतर Blogger भी Cloud Hosting का इस्तेमाल कर रहे हैं।

Cloud Hosting एक बहुत Fast और Secure होस्टिंग है, जो High Volume ट्रैफिक को भी आसानी से हैंडल कर सकते है। इस होस्टिंग में डेटा Loss होने का खतरा भी बहुत कम रहता है क्योंकि डेटा अलग-अलग सर्वर में स्टोर रहा हैं।

Cloud Hosting का नुकसान यह है, कि इसकी कीमत अन्य होस्टिंग से अधिक होते है और Dedicated Hosting की तरह पूरा कण्ट्रोल आपके पास नहीं होता हैं।

5. पुनर्विक्रेता होस्टिंग: Reseller Hosting

जैसे की नाम से ही स्पष्ट है इस प्रकार की होस्टिंग को आप कम्पनी से खरीदकर अन्य लोगों को बेच सकते हैं। Reseller Hosting को मुनाफा कमाने के लिये इस्तेमाल किया जाता हैं।

अगर आप एक Web Developer हैं और आपको होस्टिंग का Technical Knowledge है, तो आप आपने क्लाइंट की वेबसाइट को Reseller Hosting में होस्ट कर सकते हैं। ऑनलाइन पैसे कमाने के लिये Reseller Hosting का बिज़नेस भी एक अच्छा विकल्प हैं।

6. मैनेज वर्डप्रेस होस्टिंग: Managed WordPress Hosting

Managed WordPress Hosting एक प्रकार की Shared Hosting है, जिसे कि खास WordPress के लिए डिजाईन किया गया हैं।

इस प्रकार के होस्टिंग में होस्टिंग कम्पनी आपके वर्डप्रेस वेबसाइट को मैनेज करते है; जैसे कि – बैकअप बनना, स्पीड मेन्टेन करना, होस्टिंग में टेक्निकल काम आदि इसके बदले में कंपनी आपसे अत्तिरिक्त चार्ज लेते हैं।

Web Hosting काम कैसे करता है?

Web Hosting एक प्रकार से Server Management का ही कार्य करता है। जहां आपके Content को किसी Server में स्थापित कर दिया जाता है, तथा इसे 24×7 लाइव रखने का प्रयास किया जाता हैं।

हालांकि यह कार्य आप स्वयं भी कर सकते है। चूँकि आपको अपना कॉन्टेंट ही तो इंटरनेट पर लाइव रखना है, अतः आप चाहे तो अपने हार्ड डिस्क को इंटरनेट के माध्यम से लाइव कर सकते है।

Web Hosting काम कैसे करता है?
Web Hosting काम कैसे करता है?

ऐसे Situation में जब भी कोई कोई व्यक्ति आपके Content को खोजना चाहेगा तो वह आपके Hard Disc में मौजूद Content तक Internet के माध्यम से पहुंच जाएगा। इंटरनेट के माध्यम से यह करना काफी आसान सुनाई पड़ता है। परंतु यह कार्य वेहद मुश्किल और खतरनाक है।

मुश्किल इस सन्दर्भ में है कि सबसे पहले आपको अपने Hard Disc को Internet पर live लाने के लिये Server Management सीखना होगा, जिसके लिये आपको कुछ Tough Coding languages जैसे Programming in C, PHP और Mysql Database को समझना पड़ेगा, साथ ही आपके पास हाई स्पीड इंटरनेट होना आवश्यक है और वह भी 24×7.

और यह खतरनाक इसलिये है, क्योंकि यहाँ लोग इंटरनेट के माध्यम से आपके हार्ड डिस्क तक पहुँच जा रहे है, यदि आपने सर्वर की सुरक्षा में थोड़ी भी ढील दी तो Hacker आपके पर्सनल डाटा को भी चुरा सकते है।

इन्ही कारणो की वजह से लोग अपना स्वयं का सर्वर स्थापित न कर किसी कंपनी के सर्वर को एक निश्चित समय के लिए कुछ पैसे देकर खरीद लेते है। जहां उन्हे उस कम्पनी के द्वारा एक सुरक्षित CPU प्रदान करवाया जाता है।

जिसमे Hard Disc, RAM इत्यादि सभी उपयोगी चीजे शामिल होती है, जो आपके Content को तीव्र गति से live रखने के लिए सहायक होते है। इस Server को प्रदान करने वाली कंपनी को ही Web Hosting कंपनी कहा जाता है।

Web Hosting के उपयोग

एक Web Hosting के बहुत सारे उपयोग होते है जैसे कि :-

  1. आपके Content को चाहे वह किसी भी Format में हो जैसे – Jpeg, Pdf, Txt,W ord, Mp4 इत्यादि उसी रूप में आपके Readers के लिये उपलब्ध कराना।
  2. आपके Website को दुनियां के लिये सदैव live रखना, चाहे आप आपने Website पर कार्य कर रहे हो या नही।
  3. दुनियां और आपके Website के बीच की दूरी को मात्र एक क्लिक में सीमित कर देना, एक क्लिक होते ही दुनियाँ का कोई भी व्यक्ति आपके Content को आसानी से देख सकता है।
  4. वेबसाइट को Security प्रदान करना होंगा, ताकि Hackers से आपके Website को कोई क्षति न हो।
  5. आपके वेबसाइट के खुलने की स्पीड को बढ़ा देना।

Hosting मे क्या- क्या फीचर्स होते है?

सभी प्रकार के Hosting में मुख्य रूप से निम्नलिखित Features होते है। जैसे, कि :-

  1. Disc Storage : एक निश्चित Amount का Data Store करने के लिये।
  2. Free Domain Name : एक डोमेन नाम जो, की आपका IP एड्रेस होता है।
  3. Website : एक वेबसाइट जहाँ आप अपने सभी Content को पाठको के लिये उपलब्ध करा सके।
  4. Visit Monthly : एक माह में आपके वेबसाइट पर आने वाले कुल रीडर्स की संख्या।
  5. Email Account : ईमेल अकाउंट ताकि आप अपने बिज़नेस से सम्बंधित समझौते को डिजिटल रूप दे सके।
  6. Free SSL : Website के सुरक्षा हेतु एक Encrypted Chain.
  7. Bandwidth : डाटा ट्रांसफर की मात्रा।
  8. Managed WordPress : आपके सुविधा के लिये पहले से पूर्ण Optimize किया हुआ WordPress.
  9. WordPress Acceleration : तीव्र गति से चलित एक WordPress जो, कि आपके डिजिटल बिज़नेस को आगे बढ़ाने का कार्य करता है।
  10. 30 Days Money Back Guarantee : यह वर्तमान समय में हर Hosting कंपनी प्रदान करता है। ताकी यदि आपको इनको Services आपके बिज़नेस के Favourable नहीं लगती है तो आप अपने पैसे वापिस ले सके।

Server Uptime

Server Uptime को प्रतिशत के रूप में दिखाया जाता है। अतः आपको ऐसे होस्टिंग के साथ जाना चाहिये, जिसका Server Uptime 100% के निकट हो। वर्तमान समय में सभी प्रमुख वेब होस्टिंग कम्पनियाँ अपने सर्वर अपटाइम पर बहुत अधिक ध्यान दे रहे है।

जिसके परिणाम स्वरूप हमें 99.9% तक का Uptime देखने को मिल जा रहा है। अतः हम यही सलाह देते है कि आप अच्छे अपटाइम वाले होस्टिंग कंपनियों के साथ ही जुड़े।

एक अच्छा Web Hosting का चयन कैसे करे?

अपने ऑनलाइन बिज़नेस के लिये आवश्यक होता है, कि आप सदैव ऑनलाइन रहे, आपके वेबसाइट की स्पीड निरंतर फ़ास्ट रहे। परंतु इसके साथ ही जो महत्वपूर्ण बात है वह यह कि होस्टिंग प्लान आपके बिज़नेस के अनुरूप हो। एक आदर्श वेब होस्टिंग के लिये प्रमुख Standards नीचे दिये गये है :-

  1. Web Hosting का Server Uptime 100% के निकटतम होना चाहिये।
  2. Hosting Server आपके सर्वाधिक Users वाले Location पर स्थापित होना चाहिये।
  3. WordPress, Joomla या Wix तथा इसी प्रकार के अन्य CMS का एक हि क्लिक पर Instalment की सुविधा होना चाहिये।
  4. Web Hosting Dashboard Fully Optimized होना चाहिये।
  5. Support System बेहतरीन होना चाहिये, जिसमे Technical और Non-Technical मदद करने की सम्पूर्ण क्षमता होना चाहिये।
  6. Hosting plans Upgrade करने की पूर्ण सुविधा होना चाहिये।
  7. 30 Days Cashback की सुविधा उपलब्ध होना चाहिये।
  8. Small, Medium और Large प्रकार की बिज़नेस के लिये अलग-अलग Plan होना चाहिये।
  9. Hosting Server Secured होना चाहिये।
  10.  Hosting Setup आसान और तीव्र होना चाहिये।
  11. Control Panel User Friendly होना चाहिये।
  12. Online Chat Support होना चाहिये।

Linux Web Vs Windows Web Hosting

Linux Web Hosting और Windows Web Hosting किस Web Hosting के प्रकार नही होते, लेकिन ये Web Hosting की णाली/पद्धति (System) होती है। सबसे पहले हम दोनों Web Hosting का अर्थ समझ लेते है:-

Linux Web Hosting

एक स्वतंत्र और Open Source Platform होने के बावजूद, Linux एक Standard Maintain करने में सफल रहा है और यह Hosting के लिये आज सबसे अधिक इस्तेमाल किये जाने वाला Operating System है। यह Web Server के लिये सबसे लोकप्रिय Operating System है और इसमें Professional Web Designer कि उम्मीद से अधिक सुविधाएँ मिल जाते हैं।

Linux Server पर आप स्वयं से कुछ Development नही कर सकते, परंतु फिर भी इसे इस्तेमाल न करने के लिये आपको कोई बहाना नही मिलेगा, क्योंकि यदि आप कोडिंग के विषय में ज्यादा माहिर नही भी है तो Linux Web Hosting आपके लिये ही है। Linux को Manage करने के लिये आपको cPanel का प्रयोग करना होता है।

Windows Web Hosting

Linux के विपरीत Windows Web Hosting में Hosting Server पर Windows Operating System Installed होता है। इसका अर्थ है कि यह Windows द्वारा licensed प्राप्त होने की वजह से इसमें Linux जैसी स्वतंत्रता नहीं रहती, क्योंकि Linux Open Source वाला Operating System होता है।

इसके अतिरिक्त जब आप Linux Web Hosting का प्रयोग करते है तो आपको Linux के बारे में जानने की आवश्यकता नही होती, जबकि इसके विपरीत Windows Operating System में Web Hosting होने पर आपको Windows के विषय में जानने की बहुत अधिक आवश्यकता होती है।

हमे किस प्रकार की Web Hosting लेना चाहिये आपने साइट के लिये?

किसी भी वेब होस्टिंग का चयन करते समय आपको अपनी जरूरतो पर ध्यान देना चाहिये। आपको यह देखना चाहिये कि आपका जो भी जरूरते है क्या इसे वह वेब होस्टिंग पूरा करता है? यदि ऐसा है, तो आपको उसी वेब होस्टिंग के साथ जाना चाहिये।

परन्तु फिर भी यह देखा गया है, कि वेब होस्टिंग के चयन के समय बहुत से लोग शुरुवात में गलती कर देते है, फिर कुछ समय होने के बाद जब उन्हे पता चलता है कि उनके बिजनेस के लिये तो दूसरे प्रकार का वेब होस्टिंग बेहतर है, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है और गलत चयन के कारण उनका बहुत सारा पैसा बर्बाद हो जाता है। ऐसे में आज हम आपको बताने का प्रयास करेंगे कि आपके बिजनेस के लिये कौन-सा होस्टिंग बेस्ट होगा।

यदि भारत के संदर्भ में बात करे तो यहाँ होस्टिंग कंपनियों का बाजार खुल चूका है, ऐसे में सबसे बेहतर की तलाश कर पाना एक जटिल कार्य हो जाता है। ऐसे में हमे अपने Best Hosting Provider की खोज के लिये एक बेहतर Strategy को अपनाने की आवश्यकता होती है, परंतु आपको चिंता की आवश्यकता नही है। आज हम आपको अपने Research के आधार पर Top 3 Best Hosting के लिस्ट लेकर आये है, जिससे आपको अपने सबसे बेहतर Web Hosting का चयन करना आसान हो जायेगा –

Hostinger

  • Price : भारत में सबसे सस्ता (79 ₹ प्रति माह के देर से शुरू)
  • Performance : 99.9% Uptime
  • Support System : Live Chat का विकल्प मौजूद, प्रत्येक Complain में Average 30 मिनट के भीतर उसे Resolve करने का वादा करते है।

यदि आप नए है और आप इस कंपनी के Hosting Plan का चयन करते है, तो हम सलाह देते है की आपको इसकी Shared Web Hosting Plan के साथ जाना चाहिए।

Godaddy

  • Price : Medium (मध्यम, न ज्यादा महंगा न ज्यादा सस्ता)
  • Performance : 99.9% Uptime
  • Support System : Live Chat का विकल्प मौजूद, यह बहुत पुरानी कंपनी है जिससे इनकाTechnical सहायता प्रदान विश्वभर में प्रसिद्ध है।

किसी भी बड़े, छोटे, मध्यम वेबसाइट के लिए यह कंपनी मजबूत है। इनकी सुरक्षा काफी अच्छी है और इनका सर्वर भी।

Bluehost

  • Price : Medium (मध्यम, न ज्यादा महंगा न ज्यादा सस्ता)
  • Performance : 99.9% Uptime
  • Support System : Live Chat का विकल्प मौजूद, इनकी टीम काफी तकनिकी जानकर वाले होते है, Technical सहायता प्रदान करने के लिये Bluehost विश्वभर में प्रसिद्ध है।

यदि आप Bluehost के साथ जाना चाहते है, तो हम आपको सलाह देंगे कि इसका चयन आप बड़े वेब एप्लीकेशन या टेक्निकल या कोडिंग करके वेबसाइट का निर्माण करने जा रहे है। छोटे वेबसाइट के लिए भी इसका उपयोग कर सकते है।

HostGator

  • Price : Medium (मध्यम, न ज्यादा महंगा न ज्यादा सस्ता)
  • Performance : 99.9% Uptime
  • Support System : Live Chat का विकल्प मौजूद, यहां आसानी से तकनिकी टीम से साथ बात करके आसानी से प्रॉब्लम को सही कर लिया जाता है।

HostGator न केबल बड़े वेबसाइट या वेब एप्लीकेशन बल्कि छोटे बिजनेस के लिये आसान और सुरक्षित कार्य करता है।

Conclusion

तो यदि आपको होस्टिंग के विषय में पूरी जानकारी है, तो आप निश्चित रूप से एक बेहतरीन होस्टिंग का चयन कर सकते है, साथ ही इसकी जानकारी आपको ब्लॉगिंग के साथ-साथ डिजिटल क्षेत्र में बहुत आगे ले जाने का कार्य करते है।

आशा करते हैं, कि आपको यह लेख Web Hosting क्या हैं? पसंद आया होंगा। हमने इस आर्टिकल में बहुत सारे Factors को जोड़ने का प्रयास किया ताकि आपको Web Hosting के बारे में सम्पूर्ण जानकारी हो जाए।

यदि इस Article के किसी भी बिन्दु पर आपको कोई भी समस्या आती है या आप को समझने में कठिनाई महसूस होती है, तो आप हमसे Comment Box पर उसे लिखकर पूछ सकते हैं। हम जल्द से जल्द आपके प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करेंगे।

Leave a Comment